क्रिसमस पर ट्रंप ईराक में अमेरिकी सैनिकों से मिले

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने क्रिसमस के मौके पर इराक में मौजूद अमरीकी सैनिकों से मुलाकात की। ट्रंप पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के बिना इराक पहुंचे। उनके साथ अमरीका की फर्स्ट लेडी मेलानिया ट्रंप भी थीं। व्हाइट हाउस ने जानकारी दी है कि ट्रंप और मेलानिया ‘क्रिसमस को देर रात’ इराक पहुंचे। वो इराक में मौजूद सैनिकों को ‘उनकी सेवाओं, उनकी कामयाबी और उनकी कुर्बानियों’ के लिए शुक्रिया अदा करने गए थे।

छत्तीसगढ़ में 16 आईपीएस अफसरों का तबादला

समाचार एजेंसी रायटर्स के मुताबिक अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा है कि अमरीका की इराक से सैनिकों को हटाने की कोई योजना नहीं है। ट्रंप का इराक दौरा उस वक़्त हुआ जब मध्य पूर्व की रणनीति पर मतभेद को लेकर कुछ दिन पहले ही अमरीकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने इस्तीफा देने का एलान किया था। राष्ट्रपति ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया एयरफोर्स वन विमान से इराक की राजधानी बगदाद के पश्चिम में स्थित अल असद एयरबेस पर पहुंचे। ये इस क्षेत्र में ट्रंप का पहला दौरा था। उनके साथ अमरीका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन भी थे। उन्होंने अमरीकी सैनिकों से वायु सेना के ठिकाने के रेस्टोरेंट में मुलाकात की।

बाहुबली अनंत सिंह मुंगेर से लोकसभा में चुनौती देंगे

समाचार एजेंसी रायटर्स के मुताबिक ट्रंप ने कहा कि हम अगर सीरिया में कुछ करना चाहते हैं, तो अमरीका इराक को ठिकाने की तरह इस्तेमाल कर सकता है। इस दौरान उन्होंने सीरिया ने अमरीकी सैनिकों को वापस बुलाने के अपने फैसले का बचाव भी किया। उन्होंने कहा कि एक दिन तमाम लोग मेरी तरह ही सोचने लगेंगे। ट्रंप ने कहा कि मैं शुरुआत से ही साफ करता रहा हूं कि सीरिया में हमारा मिशन आईएसआईएस (आईएस) की सैन्य ताकत को खत्म करना था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *