फैशन जगत को नई दिशा देना है

फैशन का नाम सुनते ही हमारे मन में एक नई ऊर्जा का संचार होने लगता है. हमारी जिंदगी से बहुत ही करीब से जुड़े फैशन का प्राव समाज के हर वर्ग पर होता है. इलेक्ट्रॉनिक मीडिया एवं डिजिटल मीडिया ने फैशन को एक नई दिशा देने का काम किया है. ऐसे में तमाम संस्थाएं सामने आई हैं जो फैशन की नवोदित प्रतिभाओं को प्लेटफार्म दे रही हैं.  ऐसे में फैशन जगत से दिल से जुड़ी किसी शख्शियत का सामने आना एवं प्रतिभाओं को प्लेटफार्म देने के लिए काम करना एक सकारात्मक बात है. फैशन डिजाइनर आरती तिवारी ने ऐसा ही कुछ काम शुरू किया है. वी एल मीडिया सोलुशंस द्वारा आयोजित ‘कोत्योर रनवे वीक’ की निदेशिका आरती तिवारी से ‘उदय सर्वोदय’ की सहायक संपादक (वेब) खुशबू जोशी ने बातचीत की. प्रस्तुत है बातचीत के प्रमुख अंश:

आप अपने फैशन शो के बारे में कुछ बताएं?
‘कोत्योर रनवे वीक’ एक प्रयास है, जहां नए पुराने डिजाइनरों को प्लेटफार्म उपलब्ध कराया जाएगा. इस प्लेटफार्म के माध्यम से नई प्रतिभाएं फैशन जगत में अपनी उपस्थिति दर्ज करा सकेंगी. यह इवेंट प्रतिष्ठित प्रकाशन एवं मीडिया समूह वी एल मीडिया सोलुशंस द्वारा आयोजित किया जा रहा है, जो प्रकाशन जगत में नई प्रतिभाओं को लांच करने के लिए जाना जाता है.

आपका फैशन शो अन्य शो से कैसे भिन्न है?
यह एक मिशन है, जहां डिजाइनर न सिर्फ अपना डिजाइन शोकेश कर पाएंगे, बल्कि उन्हें मार्केट तक पहुंचाने में भी हम सहयोग करेंगे. प्रतिभागियों को इवेंट के बाद भी परामर्श दिया जाएगा, जिससे उन्हें किसी भी व्यावसायिक समस्या से निपटने में आसानी हो सके. इस मिशन का एक मात्र उद्देश्य है नवोदित प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करना और यह प्रोत्साहन तभी संभाव होगा जब उन्हें आयोजक से भरपूर सहयोग मिले. यह शो नवोदितों को अवसर देने के साथ ही साथ स्थापितों को सम्मान देने के लिए आयोजित किया जा रहा है.

आपको इसकी प्रेरणा कहां से मिली?
फैशन जगत में मैंने न सिर्फ अध्ययन किया है, बल्कि लगभग पंद्रह साल तक सेवाएं भी दी हैं. पहले नौकरी की फिर व्यवसाय किया और लंबे समय तक इस व्यवसाय की चुनौतियों को समझने की कोशिश की. काम करते समय मैंने महसूस किया कि आयोजित होने वाले तमाम फैशन शो में प्रतिभागियों को केवल अपने डिजाइन को शोकेश करने का अवसर मिलता है. न उन्हें परामर्श दिया जाता है और न ही इवेंट के बाद उनसे संपर्क किया जाता है. वहीं से मुझे यह प्रेरणा मिली कि मुझे एक ऐसा फैशन शो आयोजित करना चाहिए, जहां नवोदितों को वास्तविक लाभ मिल सके.

इन्हीं प्रेरणाओं से हमने इस मिशन की शुरुआत की. इस व्यवसाय में आना मेरी व्यावसायिक मजबूरी न होकर मेरी अभिरुचि है. इसलिए इस फील्ड की नकारात्मकता से दुखी हुई और सोचना शुरू किया कि कैसे कुछ किया जाए जिससे फैशन के लोगों का विकास किया जा सके.  तो आपको लगता है अन्य शो आयोजित करने वाले प्रतिभागियों से न्याय नहीं कर रहे हैं?  मैं ये नहीं कहती कि कौन न्याय कर रहा है और कौन अन्याय लेकिन हां यह सच है कि फैशन जगत में में जितनी बातों का ध्यान दिया जा रहा है उसमें कुछ महत्वपूर्ण बातों को भी जोड़ने की जरूरत है.

आपके शो में कितने प्रतिभागी शामिल हो रहे हैं?
इस शो में केवल पचास डिजाइनर ही भाग ले सकेंगे. शो में प्रतिभागियों को प्रोत्साहित करने के लिए हम सिने जगत, राजनीति, फैशन उद्योग, मीडिया जैसे फील्ड से लोगों को आमंत्रित कर रहे हैं.

आप नई प्रतिभाओं को मौका देने के लिए काफी प्रयासरत हैं. इसकी कोई खास वजह?
हम अच्छी डिजाइन एवं प्रतिभाओं का चयन करते हैं, उसमें किसी उम्र या अनुभव विशेष का कोई महत्व नहीं होता. हां, यह सच है कि नई प्रतिभाएं हमारे यहां अपना स्थान बना रही हैं. ऐसा इसलिए होता है कि चयन करते समय हम उम्र या अनुभव को वरीयता न देकर गुणवत्ता को महत्व देते हैं. स्थापित लोगों से ज्यादा नवोदितों को सहयोग की जरूरत है इसलिए भी शायद हमारा झुकाव इनकी तरफ ज्यादा है.

फैशन प्रतिभाओं के लिए कोई संदेश?
मैं फैशन जगत के प्रतिभाओं को शुभकामनायें देती हूं तथा उन्हें आमंत्रित करती हूं कि शो में अगर उन्हें डिजाइन प्रस्तुत करने का अवसर न मिल सके तो भी दर्शक के रूप में भाग लें. यहां बहुत कुछ सीखने को मिलेगा.

परिचय
मूलत: इलाहाबाद से आन वाली आरती तिवारी ने फैशन डिजाइनिंग में दिल्ली से परास्नातक करने के बाद कई प्रतिष्ठित गारमेंट कंपनियों में उच्च पदों पर दस साल तक काम किया. उसके बाद खुद का व्यवसाय भी किया. आरती फैशन शिक्षा एवं व्यवसाय जगत को सलाह देने का काम भी करती हैं. फैशन उनके लिए व्यवसाय से ज्यादा अभिरुचि का विषय है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *