पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने डीपीसीसी की कमान संभाली

नई दिल्ली
दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के हाथ में फिर से प्रदेश कांग्रेस की अध्यक्ष बन गई हैं। अजय माकन के इस्तीफे के बाद से ही इस बात की उम्मीद की जा रही थी कि अनुभवी दीक्षित को ही पार्टी की कमान सौंपी जाएगी। कांग्रेस नेता पीसी चाको ने शीला दीक्षित को दिल्ली कांग्रेस का चीफ बनाए जाने की घोषणा की। उन्होंने बताया कि हारून यूसुफ, राजेश लिलोठिया, देवेंद्र यादव को वर्किंग प्रेजिडेंट बनाया गया है।

पुस्तकें कभी न नष्ट होने वाली संपत्ति : नित्यानंद

ऐसा कहा जा रहा है कि अजय माकन ने आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन की संभावना को देखते हुए इस्तीफा दिया। मध्य प्रदेश और राजस्थान में अनुभवी पुराने कांग्रेसियों को कमान देने की तर्ज पर ही राहुल गांधी ने दिल्ली की कमान शीला दीक्षित को सौंपी है। अजय माकन ने शीला दीक्षित को फिर से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनने पर बधाई और शुभकामनाएं दीं।

जींद उपचुनाव में कांग्रेस से रणदीप सुरजेवाला उम्मीदवार

गौरतलब है कि बीस वर्ष बाद फिर से शीला दीक्षित को दिल्ली का चीफ बनेंगी। शीला का कद और अनुभव दिल्ली के सभी नेताओँ पर भारी पड़ा। जिस प्रकार से राजस्थान और मध्यप्रदेश में अनुभवी और पुराने वफादरों को कमान सौंपी गई है उसी तर्ज पर दिल्ली को दिया गया है। शीला दीक्षित ने 15 वर्षों के कार्यकाल में बेहतर प्रदर्शन किया था और कई विकास के कार्य किए हैं जिसकी मिसाल दी जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *