जब तक पेंशन बहाल नहीं, तब तक चैन नहीं

आज युवा कर्मचारियो की सबसे बडी समस्या बुढापे की लाठी पुरानी पेंशन की बहाली है  अटेवा उत्तर प्रदेश पुरानी पेंशन की पुनः बहाली के लिए विगत कई वर्षों अनवरत संघर्ष कर रहा है। अभी नवम्बर को दिल्ली के रामलीला मैदान में एक विशाल रैली की गयी जिसमे कई लाख लोगो शामिल हुए। दिल्ली सरकार ने उसी दिन विधानसभा का विशेष सत्र बुला कर पुरानी पेंशन के प्रस्ताव को पास कर दिया।

गडकरी बेहोश होकर गिरे

विगत दो वर्ष पूर्व  पुरानी पेंशन की बहाली के लिए 7 दिसंबर 2016 को लखनऊ में विशाल महारैली का आयोजन किया गया था, जिसमे विधान सभा का घेराव भी सम्मिलित था। जब सरकारी शिक्षक, कर्मचारी अधिकारी शांतिपूर्ण ढंग से अपने अधिकार के लिए संघर्ष कर रहे थे, उसी वक़्त शक्ति भवन हजरतगंज लखनऊ के सामने वापस जाते संघर्षियों  पर अचानक पुलिस द्वारा लाठी चार्ज कर दिया गया था, जिसमे कुशीनगर के गांधी इण्टर कॉलेज हाटा से आये शिक्षक साथी डॉ राम आशीष सिंह पुलिस की लाठीचार्ज में शहीद हो गए थे। आज प्रत्येक जिला मुख्यालयो पर डा० राम आशीष सिंह को श्रद्धांजलि दी गयी एवं उनके कृतित्व व व्यक्तित्व पर चर्चा की गयी।

यात्रा निकालने से कोई रोक नहीं सकता- शाह

आज डॉ राम आशीष सिंह जी की दूसरी पुण्यतिथि है। उनकी याद में जी. पी. ओ. पार्क गाँधी प्रतिमा के सामने उपस्थित होकर शहीद को श्रद्धा सुमन अर्पित कर उनके संघर्ष को याद किया गया, और उनकी याद में मोमबत्ती जलाकर पुरानी पेंशन बहाली तक संघर्ष करने का वचन दोहराया गया। उक्त कार्यक्रम ‘एक दीप शहीद डॉ रामाशीष के नाम’ में बड़ी संख्या में शिक्षक तथा विभिन्न विभागों के कर्मचारी और अधिकारी भी शामिल हुए तथा शहीद को नमन किया।

उक्त मौके पर अटेवा के प्रदेश अध्यक्ष एवं NMOPS के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री विजय कुमार ‘बन्धु’ ने कहा कि डॉ रामाशीष सिंह जी ने पेंशन की बहाली के लिए शहादत दी है और आज के दिन हमें यह शपथ लेनी होगी कि जब तक पेंशन बहाल नहीं हो जाती तब तक चैन से नहीं बैठेंगे, पुरानी पेंशन बहाल कराना ही शहीद के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। साथ ही सरकार को चेतावनी दी कि युवाओ को NPS मै सुधार नही मंजूर , हमें हूबहु पुरानी पेंशन चाहिए।

लुआक्टा के अध्यक्ष डॉ मनोज पाण्डेय ने कहा कि इस मोमबत्ती की लौ को अपने सीने में जला लो और तब तक जलती रहे जब तक पेंशन बहाल न् हो जाए।

वरिष्ठ कर्मचारी नेता अमरनाथ यादव ने NPS को एक छालावा बताते हुए कहा कि एकजुटता ही हमारी जीत का कारण बनेगा।

उत्तर प्रदेश वाणिज्य कर संघ के महामंत्री जे पी मौर्य ने कहा कि शहीद के सपने को साकार करना हम सभी की जिम्मेदारी है।

पंजायती ग्रामीण सफाई संघ के प्रदेश महामंत्री रमेन्द्र श्रीवास्तव न कहा कि राम आशीष सिंह की शहादत बेकार न जाए इसके लिए जरूरी है कि पुरानी पेंशन बहाली के लिए  सभी संगठन अटेवा का साथ दे।

श्रद्धांजलि सभा प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार ‘बन्धु’ के नेतृत्व में सम्पन्न हुई जिसमें प्रमुख रूप से लुआक्टा, वाणिज्य कर,  सेवा एवं प्रशिक्षण सेवा संघ लखनऊ विश्वविद्यालय कर्मचारी संघ, उ.प्र. वाणिज्य कर्मचारी संघ, उ. प्र. पंचायती राज विभाग सफाई कर्मचारी संघ, नगर निगम,  पी.डब्लू.डी. सचिवालय संघ, सिंचाई संघ, लेखपाल संघ, पशुधन प्रसार अधिकारी संघ केजीएमयू, लोहिया संस्थान नर्सेस संघ, पीजीआई कर्मचारी संघ, संयुक्त राज्य कर्मचारी संघ, चतुर्थ कर्मचारी महासंघ आदि विभिन्न संगठनों के साथ बड़ी संख्या में शिक्षक, कर्मचारी तथा अधिकारी  भी मौजूद रहे।

इस श्रद्धांजलि सभा मे डॉ नीराजपति त्रिपाठी ,रामराज दूबे, सुनील यादव, अमित शर्मा, शैलेन्द्र रावत  अंशू केडिया, संजय यादव   डा० रमेश चंद्र त्रिपाठी, राजेश यादव, विक्रमादित्य मौर्या, रजत यादव, सुरेंद्र पाल, रवींद्र वर्मा, ज्ञानेन्द्र शंकर त्रिपाठी, नवल किशोर अवस्थी प्रमुख रुप से उपस्थित रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *