Top
Home > राज्यवार > पुणे में भारी बारिश से हुई 21 लोगों की मौत, 10,500 लोग सुरक्षित

पुणे में भारी बारिश से हुई 21 लोगों की मौत, 10,500 लोग सुरक्षित

पुणे में भारी बारिश  से हुई 21 लोगों की मौत, 10,500 लोग सुरक्षित
X

महारष्ट्र, ब्यूरो | बुधवार-गुरुवार की रात पुणे जनपद में हुई मूसलधार बारिश ने पूरे जनपद में तबाही मचा दी है। पुणे के अलावा जलगांव और नासिक में भी बारिश हुई है। विभिन्न घटनाओं में अब तक 21 लोगों के मारे जाने की जानकारी मिली है। पुणे जिले में 14, जलगांव में छह और नासिक में एक की मौत हुई है। एनडीआरएफ की टीमें बचाव कार्य में लगी हैं। बाढ़ जैसे हालात पैदा हो जाने से करीब 10,500 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। पुणे शहर के निचले इलाके से 3000 लोगों को निकाला गया है।पुणे में बुधवार देर शाम से शुरू हुई बारिश गुरुवार सुबह तक चलती रही। हालांकि बरसात सुबह थम गई, लेकिन पुणे शहर एवं गांव के निचले इलाकों में बारिश से हुई तबाही का मंजर साफ देखा जा सकता था। कई इलाकों में घरों में पानी भर गया, पेड़ गिर गए। पानी के तेज बहाव में हाउसिंग सोसायटियों से दोपहिया वाहन बहकर इधर-उधर पहुंच गए थे।

मुंबई-बेंगलुरु मार्ग पर स्थित खेड़-शिवापुर गांव की एक दरगाह में सो रहे पांच लोग पानी के तेज बहाव में बह गए। जबकि अरनेश्वर क्षेत्र में नौ साल के एक बच्चे के साथ पांच अन्य लोग एक दीवार ढह जाने से मारे गए। तेज बरसात का ज्यादा असर पुणे ग्रामीण इलाके में देखने को मिला। बारामती की कर्हा नदी में पचास साल बाद बाढ़ का दृश्य देखने को मिल रहा है। बारामती में एनडीआरएफ द्वारा 10 हजार से ज्यादा लोगों को बाढ़ग्रस्त इलाकों से निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। जिलाधिकारी ने पुणे शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्कूल-कॉलेज बंद रखने का निर्देश दिया है। शहर के सिंहगढ़ रोड, धनकवाड़ी, बालाजीनगर, सहकार नगर, पार्वती, कोल्हेवाड़ी के निचले इलाकों में जलभराव देखा गया है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने भारी में मारे गए लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। एनडीआरएफ की दो टीमें पुणे शहर में और दो टीमें बारामती में बचाव कार्य कर रही हैं। मौसम विभाग ने पुणे में गुरुवार रात भी भारी बारिश की आशंका जताई है।

Updated : 27 Sep 2019 7:59 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top