Top
Home > राज्यवार > दिल्ली > 28 को ही दिल्ली पहुंचने लगेंगे किसान मुक्ति मार्च के लिए किसान

28 को ही दिल्ली पहुंचने लगेंगे 'किसान मुक्ति मार्च' के लिए किसान

28 को ही दिल्ली पहुंचने लगेंगे किसान मुक्ति मार्च के लिए किसान
X

• स्वराज इंडिया और जय किसान आंदोलन का दिल्ली मार्च 29 नवंबर की सुबह होगा शुरू, 25 किलोमीटर का सफर पैदल तय कर रामलीला मैदान पहुंचेगा किसानों का जत्था
दिल्ली -
29-30 नवंबर को दिल्ली में 200 से अधिक किसान संगठनों के आह्वान पर होने जा रहे 'किसान मुक्ति मार्च' में स्वराज इंडिया और जय किसान आंदोलन महत्वपूर्ण भागीदारी कर रहा है। दिल्ली-चलो के नारे साथ लाखों की संख्या में किसान हिस्सा लेने की तैयारी कर चुके हैं। कर्ज़ मुक्ति और फ़सल के वाजिब दाम की मांग के साथ इस आंदोलन को ऐतिहासिक बनाने का संकल्प ले रखा है किसानों ने। स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेन्द्र यादव और पार्टी के अन्य नेताओं के सघन दौरों के बाद उत्तर, पूर्व और दक्षिण भारत से हजारों की संख्या में किसान दिल्ली पहुंच रहे हैं। खास बात यह है कि किसानों का एक विशाल जत्था दिल्ली के बिजवासन से 29 नवंबर की सुबह रामलीला मैदान के लिए पैदल मार्च के लिए रवाना होगा। करीब 25 किलोमीटर की इस यात्रा को 6 घंटे में पूरी की जाएगी।
जय किसान आंदोलन संयोजक अभीक साहा ने बताया कि स्वराज इंडिया और जय किसान आंदोलन के किसान आंदोलनकारी बंगाल, ओडिशा, बिहार, उत्तर प्रदेश, पंजाब, राजस्थान, महाराष्ट्र, हरियाणा, दिल्ली, तमिलनाडू और कर्नाटक राज्यों से आएंगे। इसमें चाय बागानों, तंबाकू, आलू, ज्वार—बाजरा के भी किसान शामिल होंगे। किसानों का पूरा कर्जा माफ करो और उनकी फसलों का डेढ़ गुना दाम दो की मांगों के लिए संसद का विशेष सत्र बुलाने की सरकार से अपील कर रहे किसान संगठन देश भर से 29 नवंबर की शाम 5 बजे तक दिल्ली के रामलीला मैदान पहुंचेंगे। जबकि स्वराज इंडिया से जुड़े किसान 28 नवंबर की शाम से ही दिल्ली के बिजवासन पहुंचने लगेंगे।

Updated : 26 Nov 2018 7:19 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top