Home > राज्यवार > दिल्ली > ‘दिल्ली सरकार के 70 वादे, 74 झूठ और हर झूठ एक धोखा’

‘दिल्ली सरकार के 70 वादे, 74 झूठ और हर झूठ एक धोखा’

‘दिल्ली सरकार के 70 वादे, 74 झूठ और हर झूठ एक धोखा’
X

रिपोर्ट ¦ संतोष कुमारनई दिल्ली : लोकसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है, वैसे-वैसे आम आदमी पार्टी पर दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी का हमला लगातार बढ़ता जा रहा है. उन्होंने कुछ दिन पूर्व अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो शेयर कर लिखा है-70 वादे 74 झूठ और हर झूठ एक धोखा... केजरीवाल सरकार के ये धोखे... आये देखिए ये वीडियो जिसमें पहले 14 धोखे हैं... इस श्रृंखला को जारी रखते हुए जल्द हर धोखे का रियलिटी चेक भी दिखाएंगे. https://twitter.com/ManojTiwariMP/status/1096360980647424000बता दें कि इन दिनों दिल्ली में अनाधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने का मुद्दा सुर्खियों में है. केंद्र सरकार में आवास एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने दिल्ली सरकार को इसके लिए जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि दिल्ली सरकार के जन-प्रतिनिधि ही जनहित से जुड़े मामले में रोड़ा अटका रहे हैं, जिस कारण अनाधिकृत कालोनियों के नियमितिकरण का मामला लटका हुआ है.इस मामले में दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा, ‘सत्ता में आने से पूर्व दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने वादा किया था कि वो अनाधिकृत कालोनियों को नियमित करेंगे और जहां झुग्गी वहीं मकान देंगे. इस काम को करने के लिए दिल्ली सरकार ने 2 साल का समय मांगा था, जो 2019 में पूरा हो गया है, अब फिर से अनाधिकृत कालोनियों के नियमितिकरण की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए 2 साल का समय मांग रहे हैं. इसका सीधा अर्थ यही है कि दिल्ली सरकार विकास योजनाओं में जान-बूझ कर देरी कर रही है और मीडिया में सस्ती लोकप्रियता बटोरने के लिए अनाधिकृत कालोनियों को नियमित करने के नाम पर जनता को मूर्ख बना रही है.मनोज तिवारी ने कहा कि अनाधिकृत कालोनियों में रहने वाले लोगों के हक के लिए केंद्र सरकार लगातार काम कर रही है, लेकिन इन कालोनियों और झुग्गी-बस्ती में रहने वालों को अन्य इलाकों की तरह सामान्य सुविधायें देने के मामले में दिल्ली सरकार का रवैया दोहरे मापदंड वाला रहा है. दिल्ली सरकार के जनप्रतिनिधि लोगों के सामने कुछ और बोलते हैं और सरकारी कार्यवाही के दौरान अलग रुख अपनाते हैं.मनोज तिवारी ने कहा कि अब जनता आम आदमी पार्टी के दोगले चेहरे को अच्छी तरह समझ चुकी है और आगामी लोकसभा चुनाव में दिल्ली की इन कालोनियों में रहने वाली एक तिहाई आबादी केजरीवाल और उनकी पार्टी को समुचित जवाब देगी.

Updated : 21 Feb 2019 7:22 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top