Top
Home > प्रमुख ख़बरें > गडकरी की सलाह- यूरिया के आयात खत्म करने को पूरे देश में हो मूत्र का भंडारण

गडकरी की सलाह- यूरिया के आयात खत्म करने को पूरे देश में हो मूत्र का भंडारण

गडकरी की सलाह- यूरिया के आयात खत्म करने को पूरे देश में हो मूत्र का भंडारण
X

नई दिल्ली (ब्यूरो रिपोर्ट) : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने यूरिया आयात से बचने के लिए एक अनूठी तरकीब सुझाई है. उन्होंने कहा कि देश में मूत्र से यूरिया निर्माण होना चाहिये. अगर ऐसा होता है तो हमें उर्वरक आयात की आवश्यकता नहीं पड़ेगी.ये भी पढ़ें...मैं सपने नहीं दिखाता : गडकरीनितिन गडकरी ने कहा, ‘मैंने हवाई अड्डों पर मूत्र को एकत्र करने को कहा है. हम यूरिया आयात करते हैं, लेकिन अगर हम पूरे देश में मूत्र इकट्ठा करना प्रारंभ कर दें तो हमें यूरिया के आयात की आवश्यकता ही नहीं होगी. इसमें इतनी क्षमता है और कुछ भी नष्ट नहीं होगा'.ये भी पढ़ें... नितिन गडकरी को बनाएं पीएमनागपुर नगर निगम के मेयर इनोवेशन अवार्डस कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुये नितिन गडकरी ने एक मिसाल देते हुये कहा कि किस प्रकार प्राकृतिक कचरे से बायो-ईंधन बनाया गया. उन्होंने कहा कि यहां तक कि मानव मूत्र जैव-ईंधन बनाने में लाभप्रद हो सकता है और इसका प्रयोग अमोनियम सल्फेट और नाइट्रोजन प्राप्त करने में किया जा सकता है.बता दें कि दो दिन पहले ही केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा था कि वह प्रधानमंत्री पद की दौड़ में नहीं है. खुद को 'पक्का आरएसएस वाला' बताते हुए उन्होंने कहा कि उनके लिए देश सर्वोपरि है, प्रधानमंत्री नहीं. गडकरी ने कहा कि आगामी चुनाव में भाजपा को पूर्ण बहुमत मिलेगा और देश मोदी के नेतृत्व में विकास की राह में आगे बढ़ेगा, जबकि 'हम उनके पीछे खड़े हैं.'केंद्रीय मंत्री ने नितिन गडकरी इन अटकलों पर प्रतिक्रिया की कि खंडित जनादेश के मामले में गडकरी प्रधानमंत्री पद के लिए भाजपा के आम सहमति के उम्मीदवार होंगे और कहा कि यह 'मुंगेरी लाल के हसीन सपने' जैसा है.

Updated : 4 March 2019 9:18 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top