‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ से लोगों में जागरूकता लाएंगे : धूपड़ 

रिपोर्ट ¦ संतोष कुमार

नई दिल्ली : ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ योजना के राष्ट्रीय संयोजक राजेंद्र फड़के के नेतृत्व में सर्व सहमति से ये निर्णय लिया गया की ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ योजना को प्रत्येक घर तक पहुंचाया जाएगा। इस योजना के साथ जुड़े तमाम पदाधिकारियों  ने इस बात पर अपनी सहमति दर्ज़ कराई।

भारत धूपर, सदस्य, राष्ट्रीय कार्यसमिति, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ

‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य भरत धूपड़ ने बताया कि  इसके लिए प्रत्येक मोहल्ले में कार्यक्रम आयोजित करके बेटी के प्रति सकारात्मक सोच और रवैया अपनाने हेतु लोगों को जागरूक किया जाएगा। और सरकार से  बेटियों को मिलने वाली तमाम सुविधा व योजना के बारे में लोगों को जानकारी दी जाएगी।

धूपड़ ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेटी और बेटा एक सामान हों इस दूरगामी सोच के साथ योजना की शुरुआत किया था। जबकि इस आधुनिक दौर में भी लोग ये सोच रखते हैं कि बेटे माता पिता के साथ आजीवन रहते हैं लेकिन बेटी पराए  घर की होती है। ये सोच गलत है और हमारे समाज के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है। मैं  लोगों से निवेदन करता हूँ कि बेटी और बेटों में समानता का भाव रखें। तभी समाज में खुशहाली आएगी।

बताते चलें कि भरत धूपड़ ने पीएम मोदी की पहली सरकार में अपने टीम के साथ देश के विभिन्न गाँव, मोहल्लों और शहरों में कार्यक्रम का आयोजन करके लोगों को जागरूक करते हुए इस योजना के साथ जोड़ने का काम किया है, और अब  सरकार की दूसरे कार्यकाल में भी पहले से ज्यादा प्रभावी ढंग से काम कि शुरुआत कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *