Top
Home > राज्यवार > बिहार > बिहार सरकार ने कार्बन उत्सर्जन में कमी लाने को UNEP से मिलाया हाथ

बिहार सरकार ने कार्बन उत्सर्जन में कमी लाने को UNEP से मिलाया हाथ

समझौता ज्ञापन के अनुसार वर्ष 2040 बिहार में कार्बन उत्सर्जन कम कर लोगों को प्रदूषण की समस्या से निजात दिलाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

बिहार सरकार ने कार्बन उत्सर्जन में कमी लाने को UNEP से मिलाया हाथ
X

उदय सर्वोदय

नई दिल्ली: बिहार सरकार ने जलवायु परिवर्तन की समस्या से निपटने के लिए किए जा रहे प्रयासों के तहत संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) से शुक्रवार को यहां एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया, जिसके अनुसार यूएनईपी की भागीदारी से राज्य में प्रदूषण की समस्या से निजात पाने के उपाय किए जाएंगे।

बिहार के उपमुख्यमंत्री ताराकिशोर प्रसाद तथा पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री नीरज सिंह बबलू और संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में यह समझौता हुआ। केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो भी वीडियो कॉन्फेंसिंग के माध्यम से इस दौरान मौजूद थे।

बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने इस बाबत बताया, 'पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग बिहार सरकार का बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड एवं संयुक्त राष्ट्र के पर्यावरण कार्यक्रम के बीच में आज एक ऐतिहासिक समझौता हुआ है। कार्बन उत्सर्जन में कमी आए, आज हम उस रास्ते पर अग्रसर हुए हैं।'

समझौता ज्ञापन के अनुसार वर्ष 2040 बिहार में कार्बन उत्सर्जन कम कर लोगों को प्रदूषण की समस्या से निजात दिलाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस दिशा में पहले कदम के तौर पर प्रदूषण के कारणों का पता लगाने के लिए सर्वे कराने का काम किया जाएगा।

Updated : 12 Feb 2021 3:17 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top