Home > राज्यवार > बिहार > मंत्रिमंडल विस्तार में देरी पर सीएम नीतीश ने भाजपा को ठहराया जिम्मेदार, BJP ने दिया यह जवाब

मंत्रिमंडल विस्तार में देरी पर सीएम नीतीश ने भाजपा को ठहराया जिम्मेदार, BJP ने दिया यह जवाब

नीतीश ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार में इतनी देर पहले कभी नहीं होती थी। हम तो शुरुआत में ही मंत्रिमंडल विस्तार कर देते थे।

मंत्रिमंडल विस्तार में देरी पर सीएम नीतीश ने भाजपा को ठहराया जिम्मेदार, BJP ने दिया यह जवाब
X

उदय सर्वोदय

पटना: बिहार में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर रस्साकशी जारी है। विस्तार में हो रही देरी को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर भाजपा को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा है कि, बिहार में उनके कार्यकाल में पहले ऐसा कभी नहीं हुआ है कि मंत्रिमंडल विस्तार में इतनी देर हुई हो। हमेशा से हम शुरुआत में ही पूरे मंत्रिमंडल का विस्तार कर देते थे।

सीएम नीतीश से जब पूछा गया कि गुरुवार को वे भाजपा बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव, प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल और दोनों उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद व रेणु देवी से मिले, तो मंत्रिमंडल विस्तार पर बात हुई या नहीं? इसके जवाब में उन्होंने कहा कि गुरुवार को बिहार भाजपा के प्रभारी भूपेंद्र यादव और प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल के साथ उनकी मुलाकात हुई, लेकिन इस दौरान मंत्रिमंडल विस्तार या फिर किसी प्रकार की कोई राजनीतिक चर्चा नहीं हुई।

नीतीश ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार में इतनी देर पहले कभी नहीं होती थी। हम तो शुरुआत में ही मंत्रिमंडल विस्तार कर देते थे। जबतक उन लोगों (भाजपा) की राय नहीं आ जाएगी, तबतक मंत्रिमंडल विस्तार नहीं होगा। भाजपा की रिपोर्ट आ जाने के बाद ही मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा।

उधर, मंत्रिमंडल विस्तार पर नीतीश कुमार के बयान के बाद BJP की ओर से रिएक्शन आया है। बिहार भाजपा प्रदेश प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने कहा कि बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव सहित पार्टी के वरिष्ठ नेता गुरुवार को मुख्यमंत्री से मिले थे। प्रदेश नेतृत्व व आलाकमान जल्द इस मसले को लेकर मुख्यमंत्री से बात भी करेगा। मुख्यमंत्री ने जो चिंता जतायी है, उसका जल्द समाधान कर लिया जाएगा।

बता दें कि इस वक्त बिहार सरकार में ऐसे कई मंत्री हैं, जिनके पास 5 से 6 विभाग की जिम्मेदारी है। इसकी वजह से लगातार सवाल उठ रहे हैं कि आखिर क्यों नीतीश कुमार अपने मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं कर रहे हैं?

नियमानुसार बिहार में सीएम समेत 36 मंत्री हो सकते हैं। अभी सिर्फ 14 मंत्री हैं। 16 नवंबर को मुख्यमंत्री समेत 15 मंत्रियों ने शपथ ली थी। तभी से मंत्रिमंडल विस्तार के कयास लगाए जा रहे हैं।

Updated : 9 Jan 2021 9:11 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top