Home > राज्यवार > बिहार > नई जनसंख्या नीति पर सहमत नहीं नितीश, वहीँ उनकी सरकार की डिप्टी सीएम की राय जुदा, जानें क्या बोलीं रेणु देवी

नई जनसंख्या नीति पर सहमत नहीं नितीश, वहीँ उनकी सरकार की डिप्टी सीएम की राय जुदा, जानें क्या बोलीं रेणु देवी

यूपी में रविवार को सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने नई जनसंख्या नीति लागू कर दी है। इसके बाद इस मु्द्दे पर बहस छिड़ गई है।

नई जनसंख्या नीति पर सहमत नहीं नितीश, वहीँ उनकी सरकार की डिप्टी सीएम की राय जुदा, जानें क्या बोलीं रेणु देवी
X

उदय सर्वोदय

पटना : यूपी में रविवार को सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने नई जनसंख्या नीति लागू कर दी है। इसके बाद इस मु्द्दे पर बहस छिड़ गई है। जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि जो राज्य जो करना चाहे करें लेकिन हमारी राय यह है कि सिर्फ क़ानून बनाने से जनसंख्या नियंत्रित हो जाएगी, ये संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि जब महिलाएं पूरी तरह पढ़ी लिखी होंगी तो प्रजनन दर कम होगी। हमें लगता है कि 2040 तक जनसंख्या बढ़ोतरी नहीं रहेगी और फिर ये घटना शुरू होगी।

रेनू देवी

हालांकि, उन्हीं की सरकार में उपमुख्यमंत्री और बीजेपी नेता रेणु देवी नीतीश कुमार के इस विचार से सहमत नहीं हैं कि केवल महिलाओं के शिक्षित होने से ही जनसंख्या नियंत्रण संभव है।

रेणु देवी ने एक लिखित बयान जारी करते हुए कहा है कि जनसंख्या नियंत्रण के लिए पुरुषों को जागरूक करना ज्यादा जरूरी है। अपने बयान में रेणु देवी ने कहा है कि जनसंख्या नियंत्रण के लिए महिलाओं से ज्यादा पुरुषों को जागरूक करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि पुरुषों के अंदर जनसंख्या नियंत्रण करने के लिए नसबंदी को लेकर भी काफी डर की स्थिति है।

रेणु देवी ने कहा कि नसबंदी से पुरुष कितने डरते हैं इसका अंदाजा राज्य में नसबंदी दर से ही लगाया जा सकता है। बिहार के कई जिलों में नसबंदी की दर मात्र एक फीसदी है। उन्होंने अपने बयान में आगे कहा कि अक्सर यह देखा गया है कि बेटे की चाहत में पति और ससुराल वाले महिला पर अधिक बच्चे पैदा करने का दबाव बनाते हैं जिससे परिवार में सदस्यों की संख्या बढ़ जाती है।

Updated : 2021-07-13T16:18:44+05:30
Tags:    

Shivani

Magazine | Portal | Channel


Next Story
Share it
Top