Home > राज्यवार > बिहार > बिहार में शराबबंदी पर गरमाई सियासत, सरकार पर उठे सवाल तो सीएम नीतीश ने दिया ये जवाब

बिहार में शराबबंदी पर गरमाई सियासत, सरकार पर उठे सवाल तो सीएम नीतीश ने दिया ये जवाब

बिहार में शराबबंदी पर सियासत गरमाई हुई है। जहरीली शराब पीने से होने वाली मौत का मामला पूरी तरीके से राजनीतिक रंग लेता जा रहा है।

बिहार में शराबबंदी पर गरमाई सियासत, सरकार पर उठे सवाल तो सीएम नीतीश ने दिया ये जवाब
X

उदय सर्वोदय

पटना: बिहार में शराबबंदी पर सियासत गरमाई हुई है। राज्य में शराब के सिंडिकेट को रोकने में बिहार सरकार पूरी तरह से असफल साबित हो रही है। जहरीली शराब पीने से होने वाली मौत का मामला पूरी तरीके से राजनीतिक रंग लेता जा रहा है।

एक और जहां विपक्ष इस पूरे मामले को लेकर सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए शराबबंदी कानून को विफल करार देने में जुटा है तो वहीं एनडीए में शामिल सहयोगी दलों ने भी शराबबंदी कानून की सफलता पर सवाल खड़े कर दिये हैं। जीतन राम मांझी की हम पार्टी ने कैमूर, गोपालगंज और मुजफ्फरपुर में जहरीली शराब कांड को लेकर होने वाली मौतों पर दुख जाहिर करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर सवाल उठा दिए हैं।

उधर, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अधिकांश लोग शराबबंदी के पक्ष में हैं। लेकिन कुछ लोग गड़बड़ कर रहे हैं। कुछ लोग बाएं दाएं करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होने आरोप लगाया कि प्रदेश में शराब की दुकान खुलवाने की बात करने वाले कांग्रेस के लोग पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने के समय अपने को मादक पेय एवं नशीले पदार्थों से दूर रखने का वचन देते हैं।

बिहार विधानमंडल के बजट सत्र के प्रथम दिन 19 फरवरी को बिहार विधानसभा और बिहार विधान परिषद के संयुक्त सत्र के दौरान राज्यपाल फागू चौहान के अभिभाषण पर चर्चा के बाद मंगलवार को सरकार की ओर से जवाब देते हुए नीतीश ने कहा कि प्रदेश में शराब की दुकान खुलवाने की बात करने वाले कांग्रेस के लोग पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने के समय अपने को मादक पेय एवं नशीले पदार्थों से दूर रखने का वचन देते हैं।

उन्होंने कहा कि बापू के विचारों के खिलाफ बोल रहे ये लोग यह भूल गए हैं कि सदन द्वारा सर्वसम्मति से पारित किए जाने के बाद एक अप्रैल 2016 से प्रदेश में शराबबंदी लागू की गयी और आज उसके विरोध में बोल रहे हैं। नीतीश ने कहा कि कांग्रेस में सदस्यता ग्रहण के समय सदस्यता फार्म पर हस्ताक्षर कर वे वचन देते कि वे अपने को मादक पेय एवं नशीले पदार्थों से दूर रखते हैं।

Updated : 24 Feb 2021 9:45 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top