Home > राज्यवार > बिहार > सीतामढ़ी: किसानों के चक्का जाम के समर्थन में युवा कांग्रेस ने निकाला विरोध-मार्च

सीतामढ़ी: किसानों के चक्का जाम के समर्थन में युवा कांग्रेस ने निकाला विरोध-मार्च

जिलाध्यक्ष मो.शम्स शाहनवाज के नेतृत्व में मेहसौल चौक से कारगिल चौक तक आयोजित विरोध मार्च के दौरान काली पट्टी बांधे युवा नारा लगा रहे थे।

सीतामढ़ी: किसानों के चक्का जाम के समर्थन में युवा कांग्रेस ने निकाला विरोध-मार्च
X

ब्यूरो रिपोर्ट

सीतामढ़ी: कृषि क़ानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के चक्का जाम के समर्थन में सीतामढ़ी जिला युवा कांग्रेस ने शहर में विरोध मार्च निकाला। जिलाध्यक्ष मो.शम्स शाहनवाज के नेतृत्व में मेहसौल चौक से कारगिल चौक तक आयोजित विरोध मार्च के दौरान काली पट्टी बांधे युवा कांग्रेस कार्यकर्ता 'नरेंद्र मोदी मुर्दाबाद-काले कानून वापस लो' का नारा लगा रहे थे।

इस अवसर पर युवा कांग्रेस अध्यक्ष शम्स शाहनवाज ने कहा कि पिछले 74 दिनों से देश के लाखों किसान अपनी खेती और सार्वजनिक वितरण प्रणाली को बचाने के लिए गांधीवादी तरीके से आंदोलन चला रहे हैं। उनके इस आंदोलन के साथ पूरा देश मजबूती के साथ खड़ा है। लेकिन सत्ता के अहंकार में चूर मोदी सरकार इस आंदोलन को बदनाम करने और आंदोलनकारियों को थकाने के लिए नित रोज नए हथकंडे अपना रही है।

केन्द्रीय कृषि मंत्री ने संसद को गुमराह करने और देश को भटकाने की एक नई कोशिश की। सार्वजनिक तथ्य है कि किसान संगठन सरकार से 11 दौर की बैठकें कर चुके हैं, जिसमें किसानों ने तीन कृषि कानूनों में विभिन्न खामियों का बिंदुवार ब्यौरा दिया है, जिसके बाद केन्द्र सरकार तीन कानूनों में 18 संशोधन करने की बात स्वीकार कर चुकी है। ऐसे में कृषि मंत्री का संसद में दिया गया वक्तव्य बेहद आपत्तिजनक और तथ्यों से परे है।

शम्स ने कहा कि बहुमत के घमंड में और अपने पूंजीपति मित्रों को लाभ पहुंचाने के लिए इन कृषि कानूनों को किसानों पर थोप दिया, जिसका देश के सभी किसान संगठन विरोध कर रहे हैं। हम देश के प्रधानमंत्री से अनुरोध करते हैं कि अहंकार त्यागें और किसानों की जायज मांगों को मानते हुए तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने की घोषणा करें।

मौके पर जिला कांग्रेस के पूर्व उपाध्यक्ष वीरेंद्र कुशवाहा, अफ़रोज़ आलम, मो.सईद, धर्मेंद्र यादव, सुनील कुमार, मो.फ़हीम, बाबु नन्दन राय, पप्पू कुमार, रंजीत कुमार, मो.अताउल्लाह, सुनील सिंह, मनीष तिवारी, अरुण कुमार वर्मा, संजीव यादव, सेराज मंसूरी, वकील खान, सिकंदर कुशवाहा आदि मुख्य रूप से मौजूद थे।

Updated : 6 Feb 2021 9:55 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top