Home > राज्यवार > दिल्ली > भाजपा नेताओं ने पूर्णराज्य के मुद्दे पर सालों तक झूठ बोला : गोपाल राय

भाजपा नेताओं ने पूर्णराज्य के मुद्दे पर सालों तक झूठ बोला : गोपाल राय

भाजपा नेताओं ने पूर्णराज्य के मुद्दे पर सालों तक झूठ बोला : गोपाल राय
X

रिपोर्ट ¦ संतोष कुमारनई दिल्ली : दिल्ली प्रदेश संयोजक एवं कैबिनेट मंत्री गोपाल राय ने कहा कि जब से आम आदमी पार्टी ने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के लिए अभियान की घोषणा की है, तब से भाजपा के नेताओं की ओर से अजीब-अजीब बयान आना शुरू हो गए हैं. यह इस बात को दर्शाता है कि भाजपा दिल्ली की जनता को पूर्ण राज्य का हक दिलाने के हक में नहीं हैं.प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए गोपाल राय ने कहा कि कल जिस तरह से भाजपा के केंद्रीय मंत्री विजय गोयल एवं दिल्ली विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने पूर्ण राज्य के मुद्दे को गोलमोल करने की कोशिश की, उससे एक बात जाहिर हो गई कि भाजपा ने केवल दिल्ली की जनता के साथ अन्याय कर रही है, बल्कि दिल्ली की जनता से किए हुए अपने वादे के साथ भी धोखा कर रही है.मीडिया के माध्यम से बीजेपी के समक्ष गोपाल राय ने ये तीन प्रश्न रखे- 1. क्या मोदी जी और अमित शाह ने भाजपा के दिल्ली के नेताओं को पूर्ण राज्य के मुद्दे पर पीछे बैठने के लिए कहा है? 2. क्या यह सच नहीं है कि दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने के लिए भाजपा के संस्थापक लाल कृष्ण आडवाणी ने संसद में प्रस्ताव रखा था? 3. क्या भाजपा के लोग यह मानते हैं कि आडवाणी द्वारा रखा गया प्रस्ताव गलत था?गोपाल राय ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में वादा किया था कि अगर केंद्र में भाजपा की सरकार आएगी तो दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिया जाएगा, परंतु पूर्ण राज्य का दर्जा देना तो दूर की बात पिछले 5 सालों में भाजपा ने दिल्ली की जो बची कुची शक्तियां थी, वह भी छीनने का काम किया है.गोपाल राय ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने जैसा कि पहले कहा था कि हम पूरी दिल्ली के अंदर घर-घर जाकर लोगों को भाजपा के असली चरित्र से अवगत कराएंगे, इस बाबत पार्टी ने छात्रों को अहम जिम्मेदारी देने का फैसला लिया है, उसी के मद्देनजर ‘आप’ की छात्र विंग सीवाईएसएस के पदाधिकारियों के साथ हमारी मीटिंग हुई. इस मीटिंग में छात्रों की एक टीम का गठन किया गया, जो दिल्ली के सभी कॉलेजों में जाकर और दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में जाकर छात्रों को और युवाओं को इस अभियान से जुड़ने का काम करेगी.गोपाल राय ने बताया कि आंदोलन की रूपरेखा के मद्देनजर एक राज्य स्तर की टीम गठित की गई है और उसके नीचे 7 जोनल स्तर की टीमों का गठन किया गया है, जिनके पदाधिकारियों के नाम इस प्रकार से हैं-राज्य स्तर की टीम : सुमित यादव (अध्यक्ष), अक़दस सामी, चंद्र मोहन देव, सन्नी तंवर (उपाध्यक्ष), अनुराधा ठाकुर, नेहा भारती (सचिव), हरिओम प्रभाकर, पीहू दास, अहसान (महा सचिव), शिवानी सिंह (सोशल मीडिया इंचार्ज)जोनल स्तर की टीम :नार्थ जॉन : यशवीर (अध्यक्ष), नितिन (महासचिव)वेस्ट जोन : संदीप (अध्यक्ष), दिलीप यादव (महासचिव)कालकाजी जोन : रजनीश (अध्यक्ष)साउथ जोन : हेतराम (अध्यक्ष), उमेश (महासचिव)ईस्ट जोन : रवि (अध्यक्ष), ज्योति वर्मा (महासचिव)सेंट्रल जोन : शकील (अध्यक्ष), इकराम (महासचिव)आउटर जोन : वैशाली सहरावत (अध्यक्ष)दिल्ली के अलग-अलग विश्वविद्यालय स्तर पर कोआर्डिनेशन के लिए टीम :राहुल डेढ़ा (अध्यक्ष), सूरजभान, जय ठाकुर, ओम सिंह, मुकेश रमन, कुलदीप कुमार, आदिल (उपाध्यक्ष), सूरज झा (महासचिव), सदफ़ इकरा खान (सचिव), रोहित यादव, रंजीत सिंह (सह सचिव), केविन टी सापू (मीडिया इंचार्ज), अंजली मेहता (सोशल मीडिया इंचार्ज)जामिया मिलिया इस्लामिया में गठित टीम के पदाधिकारियों के नाम :अकीव रिजवान (अध्यक्ष), कासिम उस्मानी, मोहम्मद अमानुल्लाह (उपाध्यक्ष), मोनीज़ रजा (महासचिव), अकीव रजा, अब्दुल रहमान (सचिव), सिद्दीकी अकरम, साकिर खान, असगरी जैदी, अब्दुल रशीद (सह सचिव), गौशल आजम (मीडिया इंचार्ज), शारिक (सोशल मीडिया इंचार्ज)गोपाल राय ने बताया कि आंदोलन को आगे बढ़ाने की दिशा में कल आम आदमी पार्टी अपने सभी निगम पार्षदों के साथ आंदोलन की रणनीति पर चर्चा करेगी और निगम पार्षदों को उनके क्षेत्रों में उनकी क्या भूमिका रहेगी तय तय करेगी. भाजपा को यह बताना पड़ेगा कि वह दिल्ली की जनता को पूर्ण राज्य का हक दिलाने की तरफ है या नहीं?

Updated : 21 Feb 2019 8:50 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top