Top
Home > राज्यवार > दिल्ली > कांग्रेस से आप’ नहीं मिलाएगी ‘हाथ’, 6 उम्मीदवारों के नाम का किया ऐलान

कांग्रेस से 'आप’ नहीं मिलाएगी ‘हाथ’, 6 उम्मीदवारों के नाम का किया ऐलान

कांग्रेस से आप’ नहीं मिलाएगी ‘हाथ’, 6 उम्मीदवारों के नाम का किया ऐलान
X

नई दिल्ली (ब्यूरो रिपोर्ट) : दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए दिल्ली की सात में से छह पर अपने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया. पार्टी ने पूर्वी दिल्ली से आतिशी मार्लेना, दक्षिण दिल्ली से राघव चड्ढा, चांदनी चौक से पंकज गुप्ता, उत्तर पूर्वी दिल्ली से दिलीप पांडे, उत्तर पश्चिम दिल्ली से गगन सिंह और नई दिल्ली लोकसभा सीट से बृजेश गोयल को टिकट दिया. वहीं सातवीं सीट पश्चिम दिल्ली की है, जिसके लिए उम्मीदवार का फैसला अभी नहीं हो पाया है.इससे पहले लोकसभा चुनाव 2019 में भारतीय जनता पार्टी को टक्कर देने के लिए कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच गठबंधन को लेकर बातचीत चल रही थी, लेकिन सीट बंटवारे को लेकर दोनों पार्टियों के बीच सहमति नहीं बन पाई.सूत्रों के मुताबिक, तेलुगू देशम पार्टी चीफ चंद्रबाबू नायडू, तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी समेत विपक्ष के कई नेताओं ने नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी चीफ शरद पवार के घर पर बुलाई गई मीटिंग में शामिल हुए थे. मीटिंग में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के संभावित गठबंधन पर चर्चा हुई थी.सूत्रों की मानें तो कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच दो सीट शेयरिंग फॉर्मूले पर बात चल रही है. पहले फॉर्मूले के तहत दोनों पार्टियां 4:3 फॉर्मूले पर चुनाव लड़ेगी. इनमें 4 सीटों पर आप और 3 सीटों पर कांग्रेस के उम्मीदवार होंगे. वहीं, दूसरा फॉर्मूला 3:3:1 का है. इसके तहत आप-कांग्रेस 3-3 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, जबकि एक सीट पर दोनों पार्टियों के समर्थित उम्मीदवार को उतारा जाएगा. हालांकि दोनों में से किसी भी फॉर्मूले पर सहमति नहीं बन पाई.सूत्रों का कहना है कि आम आदमी पार्टी दिल्ली में तीन से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती थी, जबकि पंजाब में अपनी चार सीट बरकरार रखने के साथ चंडीगढ़ पर भी दावा जता रही थी.वहीं आम आदमी पार्टी और कांग्रेस की तरफ से कराए गए सर्वे और पोल्स इसके संकेत देते हैं कि दोनों पार्टियां दिल्ली में अलग-अलग चुनाव लड़ती है, तो इसका सीधा फायदा बीजेपी को होगा.बता दें कि हाल ही में दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमिटी की अध्यक्ष नियुक्त हुईं दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित ने आम आदमी पार्टी के साथ किसी भी तरह के गठबंधन से साफ इनकार कर दिया था. शीला दीक्षित का कहना था कि कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ने में सक्षम है. हालांकि अब उन्होंने पार्टी हाई कमान के रणनीति के मुताबिक काम करना शुरू कर दिया है.

Updated : 2 March 2019 1:37 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top