दिल्ली एनसीआर देश का उभरता एजुकेशन हब – एकेडमिक लीडर कॉन्कलेव

नईदिल्ली-

दिल्ली एनसीआर अब एजुकेशन हब के रूप में उभर रहा है यह बात दिल्ली एनसीआर के एकेडमिक लीडर कॉन्कलेव में उबर कर आई। इस एकेडमिक लीडर कॉन्कलेव का आयोजन देश की अग्रणी थिंक टैंक सेंटर फॉर एजुकेशन ग्रोथ एंड रिसर्च के द्वारा किया गया। इस एकेडमिक मीट की अध्यक्षता प्रो. एपी मित्तल, प्रेसिंडेट सीईजीआर व मेम्बर सेक्रेट्री एआईसीटीई के द्वारा किया गया।

सुबह की बड़ी खबर

इस अवसर प्रो मित्तल ने कहा कि दिल्ली एनसीआर में बहुत सारे अच्छे टेक्नीकल कॉलेज हैं जो अपने आप को ग्रोलिरीफाई नहीं कर पाए हैं जिनसे छात्रों तक उनकी बात सही ढ़ंग से पहुंच नहीं पा रही है। शोभित यूनिवर्सिटी के चांसलर कुंवर शेखर विजेंद्र ने कहा कि दिल्ली एनसीआर में कई ऐसे पोजिटिव प्वाइँट हैं जहां अन्य क्षेत्रों में नहीं हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली एनसीआर एक सुरक्षित जगह है एवं छात्रों के लिए बहुत उत्तम जगह हैं जहां उन्हें उच्चस्तरीय पढ़ाई के साथ साथ रिसर्च का भी माहौल मिल रहा है। इस मौके पर एएएफटी यूनिवर्सिटी के चासंलर संदीप मारवाह ने कहा कि ऐसे कॉलेजों पर भी नकेल कसने की जरूरत है जो छात्रों को वेबकूफ बना रहे हैं। अरुणाचल यूनिवर्सिटी के चेयरमैन डॉ अश्विनी गौतम ने कहा कि दिल्ली एनसीआर शिक्षा का आकर्षण का केंद्र व एक बेहतरीन सुरक्षित जगह हैं जहां छात्रों को कई तरह की सुविधाएं एक ही जगह पर उपलब्ध है।

सेंटर फॉर एजुकेशन ग्रोथ एवं रिसर्च द्वारा आयोजित इस कॉन्कलेव में खास तौर पर आए वीसी हिमालय गढ़वाल यूनिवर्सिटी के वाइस चासंलर एनके सिन्हा ने कहा कि सरकार ने भी दिल्ली एनसीआर के क्षेत्रों में कई तरह की सुविधाएं प्रदान की है।

स्पिंगर नेचर के एमडी संजीव गोस्वामी ने कहा कि आज शिक्षा में कई तरह के शोध की जरूरत है जिसकी पूर्ति दिल्ली एनसीआर के कॉलेजों में हो रही है। इसके लिए अब छात्रों को अन्य जगह पर जाने की जरूरत नहीं है। यहीं कारण है कि अब छात्रों का रुझान इस ओर बढ़ा है। अंत में कॉन्कलेव में धन्यवाद ज्ञापन करते हुए सीईजीआर के डायरेक्टर रविश रोशन ने कहा कि दिल्ली एनसीआर में कई ऐसे शोध कार्य हो रहे हैं जिसकी मिसाल दी जा रही है। सीईजीआर यूनिवर्सिटी में कई ऐसे कार्यक्रम किए हैं जिससे छात्रों का रुझान भी अब इस ओर आया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *