Home > राज्यवार > दिल्ली > मनीष सिसोदिया पहुंचे गाजीपुर बॉर्डर, बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा- अहंकार से पेट नहीं भरता

मनीष सिसोदिया पहुंचे गाजीपुर बॉर्डर, बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा- अहंकार से पेट नहीं भरता

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों से मिलने के लिए शुक्रवार को गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे।

मनीष सिसोदिया पहुंचे गाजीपुर बॉर्डर, बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा- अहंकार से पेट नहीं भरता
X

उदय सर्वोदय

नई दिल्ली: दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों से मिलने के लिए शुक्रवार को गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे, जबकि सत्येंद्र जैन तथा राघव चड्ढ़ा सिंघु बॉर्डर जाएंगे। आप ने कहा, "उपमुख्यमंत्री प्रदर्शन स्थल पर पानी और शौचालय की व्यवस्था का भी निरीक्षण करेंगे।"

इस दौरान मनीष सिसोदिया ने कहा कि गाज़ीपुर बॉर्डर पर बैठे किसान नेता राकेश टिकैत ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से किसानों के लिए पानी आदि की सुविधा के लिए कहा था। मुख्यमंत्री के आदेश पर पूरे इंतज़ाम रात ही में हो गए थे। सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा, 'ग़ाज़ीपुर बॉर्डर पर बैठे किसान नेता राकेश टिकैत जी ने मुख्यमंत्री @ArvindKejriwal जी से किसानों के लिए पानी आदि की सुविधा के लिए कहा था। मुख्यमंत्री जी के आदेश पर पूरे इंतज़ाम रात ही में हो गए थे।'

इससे पहले सुबह ही उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बीजेपी को घेरते हुए निशाना साधा। सिसोदिया ने बीजेपी से अपने नेताओं को समझाने की बात करते हुए कहा कि अहंकार से पेट नहीं भरता।

सिसोदिया ने अपने ट्वीट में लिखा, "भाजपाइयो! तुम आंदोलन कर रहे किसान का इंटरनेट बंद कर देते हो, बिजली पानी बंद कर देते देते हो, आने का रास्ता बंद कर देते हो... किसान ने अगर किसानी बंद कर दी ना, एक मौसम के लिए भी, तो तुम्हारी सांसें बंद हो जाएंगी...समझाइए अपने नेताओं को, अहंकार से पेट नहीं भरता..."

गौरतलब है कि गाजीपुर सीमा पर गुरुवार देर रात स्थिति तनावपूर्ण हो गयी थी। गाजियाबाद प्रशासन द्वारा इलाके में और उसके आसपास निषेधाज्ञा लागू किए जाने के बाद दंगों को रोकने के लिए सैकड़ों सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया था। किसान नेताओं ने प्रशासन पर जरूरी नागरिक सुविधाओं रोकने तथा बिजली और जलापूर्ति बंद करने का आरोप लगाया है। पिछले दो महीनों से अधिक समय से सिंघु बॉर्डर किसानों के विरोध- प्रदर्शन को केन्द्र बना हुआ है।

बहरहाल, किसान नेता राकेश टिकैत के आंसुओं के सैलाब के बाद किसान आंदोलन एक बार फिर से रफ्तार पकड़ रहा है। पश्चिमी यूपी और हरियाणा के अलग-अलग इलाकों से किसान गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंचना शुरू हो गए हैं। वहीं, गाजीपुर बॉर्डर को दोनों ओर से बंद कर दिया गया है, जिसके बाद ट्रैफिक को डायवर्जन किया गया है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के अनुसार, नेशनल हाईवे-24 और गाज़ीपुर बॉर्डर आने और जाने वाले मार्ग को बंद कर दिया गया है।

Updated : 29 Jan 2021 7:55 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top