Home > राज्यवार > दिल्ली > राजधानी में कोरोना वायरस की 'तीसरी लहर', सीएम केजरीवाल ने दिल्लीवासियों से कही ये अहम बात

राजधानी में कोरोना वायरस की 'तीसरी लहर', सीएम केजरीवाल ने दिल्लीवासियों से कही ये अहम बात

राजधानी में कोरोना वायरस की तीसरी लहर, सीएम केजरीवाल ने दिल्लीवासियों से कही ये अहम बात
X

नई दिल्ली। देश की राजधनी दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। त्योहारी सीजन में संक्रमण की बढ़ती रफ्तार सरकार के लिए चिंता का गंभीर विषय बन गई है। ऐसे में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में बीते कुछ दिनों में कोविड-19 के नये मामलों में वृद्धि हुई है और इसे महामारी की 'तीसरी लहर' कहा जा सकता है।


दिल्ली में पहली बार 6,000 से ज्यादा नये मामले
उन्होंने कहा कि दिल्लीवासियों को चिंता करने के कोई जरूरत नहीं है सरकार हर स्थिति पर नजर बनाए हुए है। सीएम ने कहा कि शहर में कोरोना मरीजों के लिए बेड की कमी नहीं है, हालांकि कुछ निजी अस्पतालों में वेंटिलेटर युक्त आईसीयू बिस्तरों की कमी है, इसका भी समाधान निकाल लिया जाएगा। राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के नए मामले आ रहे हैं और मंगलवार को पहली बार दिल्ली में 6,000 से ज्यादा नये मामले सामने आये हैं।


राजधानी में कोरोना की तीसरी लहर

उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'दिल्ली में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि हुई है। मुझे लगता है कि हम इसे महामारी की तीसरी लहर कह सकते हैं। हम हालात पर लगातार नजर रख रहे हैं और घबराने की जरुरत नहीं है। हम सभी जरूरी कदम उठाएंगे।' उन्होंने कहा कि सितंबर के अंत और अक्टूबर की शुरुआत में दिल्ली में 3,000 से भी कम नए मामले सामने आ रहे थे। केजरीवाल ने कहा, ''दिल्ली में कोविड-19 की दूसरी लहर 17 सितंबर को अपने चरम पर थी जिस दिन शहर में 4,500 नए मामले आए थे।'' उन्होंने कहा कि सरकार की प्राथमिकता दिल्ली में कोविड-19 के मरीजों को सबसे अच्छा इलाज मुहैया कराना और मृत्यु दर को कम से कम रखना है।


हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्च में चुनौती देंंगे- केजरीवाल
सीएम ने कहा कि शहर में कोविड-19 मरीजों के लिए बिस्तरों की कोई कमी नहीं है। 'हालांकि कुछ बड़े, निजी अस्पतालों में आईसीयू बिस्तरों की कमी है, लेकिन हम इसमें सुधार की कोशिश कर रहे हैं।' केजरीवाल ने कहा, 'दिल्ली सरकार ने निजी अस्पतालों में आईसीयू बिस्तरों की संख्या बढ़ाई थी, लेकिन दुर्भाग्य से दिल्ली उच्च न्यायालय ने हमारे फैसले पर रोक लगा दी। हम आदेश को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दे रहे हैं।'


दिल्ली में कोरोना से
6652 लोगों की मौत
मालूम हो कि दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के एक बुलेटिन के मुताबिक दिल्ली में मंगलवार को कोविड-19 के एक दिन में सर्वाधिक 6,725 नए मामले सामने आए वहीं 48 और लोगों की मौत से राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमण से मृतकों की संख्या 6652 हो गई।

Updated : 4 Nov 2020 1:18 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top