Top
Home > राज्यवार > दिल्ली > दिल्ली के किरायेदारों को मिली राहत, केजरीवाल ने शुरू की नई योजना

दिल्ली के किरायेदारों को मिली राहत, केजरीवाल ने शुरू की नई योजना

दिल्ली के किरायेदारों को मिली राहत, केजरीवाल ने शुरू की नई योजना
X

नई दिल्ली, ब्यूरो | दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री केजरीवाल के एक एलान से दिल्‍ली दुनिया में ऐसा शहर बन गई है जहां किरायदारों को मुफ्त बिजली मिलेगी। किरायेदार बिजली मीटर योजना को लागू करने के दौरान मुख्यमंत्री ने दावा किया कि दिल्ली दुनिया का पहला ऐसा शहर है, जहां किरायेदारों को भी दो सौ यूनिट तक मुफ्त बिजली मिलेगी। अनुमान के मुताबिक दिल्ली के तकरीबन 40 लाख किरायेदार इसका लाख उठा सकेंगे। उन्होंने कहा कि ब्रिटेन और साउथ अफ्रीका में जरूर किरायेदारों के लिए प्रीपेड बिजली मीटर की व्यवस्था है। लेकिन, उन्हें भी मुफ्त बिजली नहीं मिलती। भारत में बेंगलुरु में किरायेदारों के लिए प्री पेड बिजली मीटर की योजना है, लेकिन वहां भी दो सौ यूनिट मुफ्त बिजली नहीं है। इसके अलावा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने का बुधवार को दावा किया कि उनकी सरकार की नीतियों के दम पर राजधानी में बिजली चोरी में भारी गिरावट दर्ज की गई है। सरकार का दावा है कि 2015 से 2019 तक बीएसईएस के राजधानी में घरेलू उपभोक्ता 22 फीसद बढ़ गए हैं। जबकि टाटा पावर के घरेलू उपभोक्ताओं में 20 फीसद की बढ़ोतरी हुई है।किरायेदारों के लिए प्रीपेड बिजली मीटर योजना के शुभारंभ पर आयोजित प्रेसवार्ता में मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि बिजली के मामले में उनकी सरकार ने पहले भी दिल्ली के लोगों को राहत दी है। एक अगस्त को दिल्ली के मकान मालिकों के लिए प्रति महीने 200 यूनिट तक बिजली बिल्कुल मुफ्त कर दी थी। वहीं 201 यूनिट होने पर बिल देना होता है। 201 से 400 यूनिट तक बिजली खर्च होने पर आधी सब्सिडी दी जा रही है। यहीं नहीं अगस्त में ही बिजली के बिल पर लगने वाला फिक्सड चार्ज भी घटा दिया था। अब स्वीकृत लोड 2 किलोवाट के बिल पर 244 रुपये तथा 3 किलोवाट तक लोड होने पर 313 रुपये तक हर महीने बचत हो रही है।

Updated : 26 Sep 2019 2:39 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top