Home > राष्ट्रीय > मोटर व्हीकल एक्ट के अंतर्गत 1 अक्तूबर से बदलेंगे ड्राइविंग लाइसेंस तथा आर-सी

मोटर व्हीकल एक्ट के अंतर्गत 1 अक्तूबर से बदलेंगे ड्राइविंग लाइसेंस तथा आर-सी

मोटर व्हीकल एक्ट के अंतर्गत 1 अक्तूबर से बदलेंगे ड्राइविंग लाइसेंस तथा आर-सी
X

नई दिल्ली, ब्यूरो | देश में 1 सितंबर, 2019 से नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू हो गया है, जिसके बाद ट्रैफिक नियमों में बहुत बदलाव हुए हैं और चालान राशि को कई गुना बढ़ाने के साथ नियमों को कड़ा कर दिया गया है। अब आपका ड्राइविंग लाइसेंस आने वाले समय में बदलने वाला है। दरअसल, देश की सरकार Driving Licence और RC से जुड़े नियमों में बदलाव करने जा रही है और ये नियम 1 अक्टूबर, 2019 से लागू होंगे। इस नियम के लागू होने के बाद सभी लोगों को अपना डीएल बदलवाना पड़ेगा। बदले हुए नियमों के अनुसार, अब डीएल और आरसी पंजीकरण प्रमाणपत्र एक ही रंग के होने वाले हैं।

भारत के हर राज्य में डीएल अलग-अलग होता हैं, लेकिन इस नियम के लागू होने के बाद देशभर में एक ड्राइविंग लाइसेंस एक जैसा होगा। अब हर राज्य में ड्राइविंग लाइसेंस और RC अलग-अलग रंग के न होकर एक जैसे ही हो जाएंगे। इससे कुछ समय पहले सरकार ने इस बारे में एक अधिसूचना भी जारी की थी। अधिसूचना के अनुसार, डीएल और आरसी में सभी जानकारी समान और उसी स्थान पर होगी, लेकिन पहले अलग-अलग स्थान पर होती थी। नए नियम के बाद ड्राइविंग लाइसेंस और आरसी में माइक्रोचिप और क्यूआर कोड दिए जाएंगे। इसके जरिए किसी का भी पिछला रिकॉर्ड छिप नहीं पाएगा। QR कोड ड्राइवर और व्हीकल को केंद्रीय डेटा बेस से सभी पहले से रिकॉर्ड किए गए रिकॉर्ड को पढ़ने की अनुमति देता है। सभी ड्राइविंग लाइसेंस के पीछे इमरजेंसी कॉन्टेक्ट नंबर अंकित किया जाएगा। ट्रैफिक पुलिस को क्यूआर कोड रीड करने के लिए हैंडी ट्रैकिंग डिवाइस दी जाएगी।

Updated : 29 Sep 2019 9:06 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top