Top
Home > शिक्षा > नई शिक्षा नीति की मूल भावना को दर्शाती है एनआईओएस की पाठ्यक्रम सामग्री: डॉ. निशंक

नई शिक्षा नीति की मूल भावना को दर्शाती है एनआईओएस की पाठ्यक्रम सामग्री: डॉ. निशंक

एनआईओएस माध्यमिक, वरिष्ठ माध्यमिक स्तर और व्यावसायिक प्रशिक्षण के क्षेत्र में मुक्त और दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से स्कूली शिक्षा प्रदान करता है।

नई शिक्षा नीति की मूल भावना को दर्शाती है एनआईओएस की पाठ्यक्रम सामग्री: डॉ. निशंक
X

उदय सर्वोदय

नई दिल्ली: केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के नोएडा में राष्ट्रीय ओपन स्कूलिंग संस्थान (एनआईओएस) के भारतीय ज्ञान परंपरा पाठ्यक्रमों की अध्ययन सामग्री का विमोचन किया।

इस मौके पर डॉ निशंक ने कहा कि एनआईओएस पहले से ही भारत और विदेशों में भारतीय ज्ञान परंपरा के प्रसार के लिए प्रयास कर रहा है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (एनआईओएस) के भारतीय ज्ञान परम्परा पाठ्यक्रमों की अध्ययन सामग्री जारी करते हुए कहा कि यह नई शिक्षा नीति की मूल भावना को दर्शाती है।

उन्होंने कहा कि वैदिक अध्ययन, संस्कृत व्याकरण, भारतीय दर्शन, संस्कृत साहित्य और संस्कृत भाषा पाठ्यक्रमों को भारतीय ज्ञान परंपरा के आधार पर एनआईओएस द्वारा माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक स्तर के लिए तैयार किया गया है और उनकी अध्ययन सामग्री संस्कृत और हिंदी भाषा में शिक्षार्थियों को उपलब्ध है।

उन्होंने कहा कि उनका अंग्रेजी माध्यम में अनुवाद भी किया जा रहा है और इसके अलावा इन सभी विषयों को विदेशों में भारतीय संस्कृति और ज्ञान परंपरा को बढ़ावा देने के लिए प्रमुख विदेशी भाषाओं में भी तैयार करने की योजना बनाई जा रही है।

डॉ निशंक ने कहा कि नई शिक्षा नीति-2020 भी शिक्षार्थी के आंतरिक स्व के साथ-साथ हमारे प्राचीन ज्ञान, कौशल और मूल्यों की स्थापना में भारतीयता के प्रति गौरव की भावना के निर्माण पर जोर देती है। पोखरियाल ने कहा कि एनआईओएस द्वारा तैयार यह पाठ्यक्रम सामग्री नई शिक्षा नीति की मूल भावना को दर्शाती है और एनआईओएस ने भारतीय संस्कृति, विरासत, दर्शन और प्राचीन ज्ञान को आधुनिक संदर्भों के साथ नई पीढ़ी तक पहुंचाने के लिए जो प्रयास किया है, वह एक मील का पत्थर साबित होगा।

एनआईओएस माध्यमिक, वरिष्ठ माध्यमिक स्तर और व्यावसायिक प्रशिक्षण के क्षेत्र में मुक्त और दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से स्कूली शिक्षा प्रदान करता है। एनआईओएस का पाठ्यक्रम राष्ट्रीय और अन्य राज्य स्तरीय स्कूल शिक्षा बोर्डों के अध्ययन के पाठ्यक्रम के अनुरूप है। एनआईओएस ने भारतीय ज्ञान परंपरा के 15 पाठ्यक्रम तैयार किए हैं जैसे कि वेद, योग, विज्ञान, व्यावसायिक कौशल और संस्कृत भाषा के विषय संस्कृत, हिंदी और अंग्रेजी माध्यम में बेसिक बेसिक एजुकेशन प्रोग्राम के तीनों स्तरों पर। ये पाठ्यक्रम कक्षा 3, 5 और 8 के बराबर हैं। इससे समाज के एक बड़े वर्ग को फायदा होगा।

Updated : 2 March 2021 4:58 PM GMT
Tags:    

Uday Sarvodaya

Magazine | Portal | Channel


Next Story
Share it
Top