सरकार ने लिया पूर्व सांसदों के बंगले को खाली करवाने का फैसला

सरकार ने लिया पूर्व सांसदों के बंगले को खाली करवाने का फैसला

दिल्ली, ब्यूरो | दिल्ली में पूर्व सांसदों के बंगलों पुलिस के द्वारा खाली करवाया जा रहा है। शहरी मामलों के मंत्रालय ने ये अहम् फैसला लिया है। दरअसल पिछले सप्ताह 50 पूर्व सांसदों को सरकारी बंगला खाली करने के  निर्देश दिए गये थे। सख्ताई बरतने के लिए ने पुलिस की सहायता ली है। इस कारवाई के अंतर्गत पूर्व सांसद दीपेंद्र हुड्डा, पूर्व सांसद और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ व सपा की डिंपल यादव सहित 10 पूर्व सांसदों ने बंगले खाली कर दिए हैं। मंत्रालय के एक अधिकारी का कहना है कि आवास खाली करने के नोटिस का सही से पालन ना करने पर पोली की मदद लिए जाने का भी प्रावधान है पूर्व सांसद दीपेंद्र हुड्डा, पूर्व सांसद और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ व सपा की डिंपल यादव सहित 10 पूर्व सांसदों ने बंगले खाली कर दिए हैं। 40 संसद अभी भी ऐसे हैं कि जिन्होंने अपने बंगले खाली नहीं किये हैं पूर्व सांसद दीपेंद्र हुड्डा, पूर्व सांसद और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ व सपा की डिंपल यादव सहित 10 पूर्व सांसदों ने बंगले खाली कर दिए हैं।

हरि मांझी, पिछली लोकसभा में बिहार के गया संसदीय क्षेत्र से सांसद थे। उन्हें नॉर्थ एवेन्यू में 124 एवं 126 नंबर बंगला आवंटित किया गया था। इसके अलावा बुधवार को नॉर्थ एवेन्यू स्थित दो अन्य बंगलों को भी पुलिस की मदद से खाली कराया जायेगा। इन्हें पूर्व सांसदों के अतिथियों को आवंटित किया गया था। उल्लेखनीय है कि मंत्रालय ने सख्त प्रावधानों वाले सार्वजनिक परिसर अधिनियम के तहत 230 पूर्व सांसदों के सरकारी बंगले खाली कराने की कार्रवाई शुरू की थी। नये कानून की सख्ती के बाद पूर्व सांसद कामेश्वर सिंह ने भी सरकारी आवास छोड़ दिया है। लोकसभा के 1967 में सदस्य रहे सिंह, बतौर अतिथि, साउथ एवेन्यू स्थित बंगले में रह रहे थे। उन्होंने अधिक उम्र और स्वास्थ्य समस्याओं के कारण मंत्रालय से बंगला खाली नहीं कराने का अनुरोध किया था, जिसे मंत्रालय ने कानूनी बाध्यता का हवाला देकर ठुकरा दिया था।

Uday Sarvodaya Team

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *