Top
Home > प्रमुख ख़बरें > भारत कैसे लौटे ‘अभिनंदन’, पाक में क्या हुआ उनके साथ, यहां जानिए सब कुछ...

भारत कैसे लौटे ‘अभिनंदन’, पाक में क्या हुआ उनके साथ, यहां जानिए सब कुछ...

भारत कैसे लौटे ‘अभिनंदन’, पाक में क्या हुआ उनके साथ, यहां जानिए सब कुछ...
X

नई दिल्ली (उदय सर्वोदय स्टाफ) : देश के अभिमान विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान को शुक्रवार की रात करीब नौ बजकर 20 मिनट पर पाकिस्तानी अधिकारियों ने भारतीय वायुसेना और बीएसएफ के अधिकारियों को सौंप दिया. अपनी जमीन पर कदम रखते ही अभिनंदन ने कहा कि देश लौट कर उन्हें बहुत अच्छा लग रहा है. आज उनका मेडिकल चेक-अप होगा.बता दें कि वाघा बॉर्डर पर पहुंचने के थोड़ी देर बाद ही वायु सेना के विमान से उन्हें दिल्ली ले जाया गया. वह रात 12 बजे दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचे, जहां से उन्हें सेना के अस्पताल में मेडिकल चेकअप के लिए ले जाया गया. इस बीच देश भर के अलग-अलग हिस्सों में लोग उनकी वापसी का जश्न मना रहे थे.अभिनंदन के स्वागत में नहीं हुई बीटिंग रिट्रीट वाघा-अटारी सीमा पर शुक्रवार सुबह से ही अभिनंदन के स्वागत में हजारों लोग पहुंचे हुए थे. हाथों में तिरंगा था और ‘भारत माता की जय’ के नारे लगा रहे थे. साथ ही इंडियन एयरफोर्स, बीएसएफ, पंजाब पुलिस और प्रशासन के आला अफसर मौजूद थे. अभिनंदन की वापसी की वजह से बीएसएफ ने शाम को होने वाले बीटिंग रिट्रीट समारोह को रद्द कर दिया था. इसके बाद भी भारी संख्या में लोग वहां मौजूद थे. कई लोगों ने भारत का राष्ट्रीय झंडा थामा हुआ था. कई ढोल नगाड़ों के साथ पहुंचे थे और लगातार नारेबाजी कर रहे थे.अभिनंदन को छोड़ने में क्यों हुई देरभारतीय वायु सेना के एयर वाइस मार्शल आरजीके कपूर भी वाघा-अटारी सीमा पर मौजूद थे. अभिनंदन को दोपहर में ही भारत को सौंपा जाना था, लेकिन पाकिस्तान ने कागजी कार्रवाई के नाम पर भारत को लंबा इंतजार करवाया. सूत्रों मुताबिक पाकिस्तानी वायुसेना ने अभिनंदन को सौंपने का प्रोग्राम दो बार बदला. कहा जा रहा है कि देरी की एक वजह थी रिहाई से पहले अभिनंदन के बयान की वीडियो रिकॉर्डिंग. इसमें अभिनंदन से पाकिस्तानी आर्मी की तारीफ करवाई गई है.इस तरह पाकिस्तान पहुंचे थे अभिनंदनविंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान 27 फरवरी को सुबह भारतीय वायु सेना की रडार ने पाकिस्तानी के लड़ाकू विमानों को भारतीय क्षेत्र में हमले की नीयत से आते देखा. इन विमानों को भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों मिग 21 बाइसन, सुखोई 30 एमकेआई और मिराज-2000 ने घेर लिया. अभियान के दौरान के दौरान भारतीय वायु सेना का एक मिग-21 विमान निशाना बना. इसमें अभिनंदन थे, जो एक एक पाकिस्तानी एफ-16 फाइटर जेट को निशाना बना कर पैराशूट से नीचे उतर रहे थे. वह स्थानीय लोगों से घिर गए थे. कुछ लोगों ने उनके साथ मारपीट भी की. उनके पास सर्विस रिवॉल्वर थी लेकिन उन्होंने निहत्थी भीड़ पर गोलियां नहीं दागीं. यहां से पाकिस्तान की सेना ने उन्हें हिरासत में ले लिया.भारत और अंतरराष्ट्रीय दबाव में छोड़े गए अभिनंदनइसके बाद भारत ने उन्हें वापस करने का दबाव बनाया. अंतरराष्ट्रीय जगत से भी दबाव था. बढ़ते दबाव के बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि वह अभिनंदन को छोड़ने जा रहे हैं. पाकिस्तान शांति चाहता था. जबकि भारत का कहना था कि अभिनंदन को छोड़ना जेनेवा कन्वेंशन के दौरान पाकिस्तान की मजबूरी थी. भारत ने कहा था कि वह अभिनंदन को रिहा किए जाने के एवज में कोई डील नहीं करेगा. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था अभी एक पायलट प्रोजेक्ट पूरा हुआ है. अभी रियल होना बाकी है.

Updated : 2 March 2019 7:39 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top