Top
Home > और भी > कैसे किया जाता है पैन कार्ड का वेरिफिकेशन, जानिये !

कैसे किया जाता है पैन कार्ड का वेरिफिकेशन, जानिये !

कैसे किया जाता है पैन कार्ड का वेरिफिकेशन, जानिये !
X

नई दिल्ली, ब्यूरो | आज के समय में आप किसी भी तरह के बैंकिंग से जुड़ा काम करने जाएं या नई नौकरी ज्वाइन करें तो आपको पैन कार्ड का डिटेल देने को कहा जाता है। फिर चाहें आप नया बैंक अकाउंट खुलवाने जाएं या डिमैट अकाउंट, म्युचुअल फंड में निवेश करने जाएं या किसी भी तरह की वित्तीय लेनदेन करने जाएं, तो आपको पैन कार्ड का डिटेल देने को कहा जाता है। क्या आपको मालूम है कि बैंक या कंपनियों को आपका पैन कार्ड डिटेल क्यों चाहिए होता है और उसे किस तरह वेरिफाई किया जाता है। आइए विस्तार से जानते हैं कि आपके पैन कार्ड को मात्र दो मिनट में महज कुछ क्लिक्स के जरिए ऑनलाइन कैसे वेरिफाई किया जा सकता है।ऐसे चेक कर सकते हैं पैन कार्ड का विवरण -

  • सबसे पहले आप आयकर विभाग के ई-फाइलिंग पोर्टल पर जाएं।
  • पोर्टल पर दाहिने साइड में देखें 'वेरिफाई योर पैन डिटेल्स' का विकल्प आएगा।
  • इसके बाद आपको पैन कार्ड नंबर, पैन कार्ड होल्डर का पूरा नाम, जन्म का तारीख और स्टेटस डालना होगा।
  • पोर्टल आपको एक मैसेज दिखाएगा कि आपके द्वारा दिया गया विवरण विभाग के डेटाबेस से मैच करता है या नहीं। अगर आपका डिटेल मैच करेगा तो आपको यह मैसेज देखने को मिलेगा।
आयकर विभाग एनएसडीएल या यूटीआई के जरिए पैन नंबर जारी करता है। पैन दस डिजिट का अल्फान्यूमेरिक आई कार्ड होता है। हर असेसीज का पैन कार्ड नंबर अलग होता है। इनकम टैक्स रिटर्न और कुछ खास तरह के लेनदेन के लिए पैन कार्ड का होना जरूरी होता है। इसलिए यह नंबर कालाधन, भ्रष्टाचार एवं कर चोरी को रोकने के लिहाज से काफी अहम होता है।

Updated : 20 Oct 2019 1:37 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top