Home > राष्ट्रीय > पाकिस्तान का साथ दे सकता हूँ, अगर मोदी मान गये: ट्रम्प

पाकिस्तान का साथ दे सकता हूँ, अगर मोदी मान गये: ट्रम्प

पाकिस्तान का साथ दे सकता हूँ, अगर मोदी मान गये: ट्रम्प
X

दिल्ली, एजेंसी | पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और उनके रणनीतिकारों व सलाहकारों को क्या कहा जाए जिससे उन्हें पता चले कि आपका भारत विरोधी राग चीन को छोड़कर कोई सुनने वाला नहीं। अमेरिका जाने से पहले इमरान ने घोषणा की थी कि मैं दुनिया के नेताओं को बताऊंगा कि कश्मीर के क्या हालात हैं। वो बता भी रहे हैं, पर कौन किस तरह सुन रहा है यह ज्यादा महत्व का विषय है। दुनिया के प्रमुख नेता जान चुके हैं कि पाक के पास कश्मीर को छोड़ कोई एजेंडा नहीं। अपने विकास या दुनिया के कल्याण के लिए पाक के पास कोई सोच है नहीं। उनकी दशा देखिए। जब वे न्यूयॉर्क में उतरे तो उनकी आवभगत के लिए कोई स्थानीय अधिकारी तक नहीं था। कालीन का किस्सा तो जगजाहिर हो चुका है। संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोदी हवाई अड्डे पर कुछ अधिकारियों को लेकर आई थीं। लेकिन मोदी के आगमन पर क्या हुआ इसे सबने देखा।

इमरान खान और ट्रंप की मुलाकात ऐसी थी कि आज पाकिस्तानी ही कह रहे हैं कि इससे अच्छा तो मुलाकात ही नहीं होती। पाकिस्तान मीडिया में इस पर बहस चल रही है कि अब हमारे पास रास्ता क्या है? इमरान ने जब भारत की शिकायत की तो ट्रंप ने स्पष्ट कहा, ‘मैं पाकिस्तान की मदद कर सकता हूं, लेकिन तभी जब नरेंद्र मोदी भी तैयार हों।’ ट्रंप ने तो यहां तक कह दिया कि पहले के अमेरिकी राष्ट्रपतियों को पाकिस्तान पर विश्वास नहीं था। उन्होंने आपके साथ जो व्यवहार किया वो ठीक ही किया, क्योंकि पाकिस्तान से अमेरिका को केवल धोखा मिला है। जब एक पत्रकार ने कश्मीर पर प्रश्न में पाकिस्तान की वकालत की तो ट्रंप ने इमरान से पूछ दिया कि यह पाक प्रतिनिधिमंडल का सदस्य है क्या? एक अन्य पाकिस्तानी पत्रकार ने कश्मीर में मानवाधिकार के हनन, वहां भोजन-दवा की कमी जैसी बातें करते हुए पूछा कि अमेरिका क्या करेगा तो फिर ट्रंप ने इमरान से पूछा कि ऐसे पत्रकार कहां से लाते हैं आप? इमरान झेंप गए। डोनाल्ड ट्रंप वैसे भी पाक के प्रति कभी उदार नहीं थे। किंतु तालिबान से बातचीत कर अफगानिस्तान से निकल भागने की जल्दी में उन्होंने उसे महत्व देना शुरू किया था। अब आगे उनका क्या रवैया होगा कहना कठिन है, लेकिन इतना साफ है कि उनका झुकाव भारत की तरफ होगा।

Updated : 26 Sep 2019 2:00 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top