Top
Home > राज्यवार > झारखण्ड > बेल ना मिली तो जेल से ही लडूंगा चुनाव : वंधु तिर्की

बेल ना मिली तो जेल से ही लडूंगा चुनाव : वंधु तिर्की

बेल ना मिली तो जेल से ही लडूंगा चुनाव : वंधु तिर्की
X

झारखण्ड, ब्यूरो | राष्ट्रीय खेल घोटाला में जेल में बंद पूर्व मंत्री बंधु तिर्की ने कहा है कि अंतिम समय में भी झाविमो का यूपीए से गठबंधन हो सकता है। कहा कि इंतजार कीजिए। आय से अधिक संपत्ति मामले में सीबीआइ की विशेष अदालत में पेश हुए बंधु ने बाहर मीडिया से बात करते हुए कहा कि न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। अगर बेल नहीं मिली तो जेल से ही चुनाव लड़ेंगे। इस दौरान बड़ी संख्या में झाविमो कार्यकर्ता अदालत में मौजूद रहे। बता दें कि पूर्व मंत्री राजा पीटर ने भी जेल से चुनाव लडऩे की घोषणा की है। रमेश सिंह मुंडा हत्याकांड में पिछले दो साल से जेल में बंद राजा पीटर को एनआइए कोर्ट ने चुनाव लडऩे की अनुमति दे दी है। वे 12 नवंबर को बुंडू अनुमंडल में नामांकन दाखिल करेंगे। पीटर तमाड़ विधानसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे। वे निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे या किसी पार्टी से यह स्पष्ट नहीं हुआ है।उल्लेखनीय है कि झारखंड और राज्य के बाहर की जेलों में रहकर चुनाव लडऩे और प्रतिद्वंद्वियों को मात देने के लिए भी मामले में झारखंड दो कदम आगे हैं। 2009 के विधानसभा चुनाव में पौलुस सोरेन ने जेल में रहते हुए खूंटी विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के कोचे मुंडा को मात दी थी। इसी तरह 2009 में ही सासाराम जेल में बंद रहते हुए कामेश्वर बैठा ने पलामू संसदीय निर्वाचन क्षेत्र से किस्मत आजमायी और जीत हासिल की। इसी कड़ी को बढ़ाते हुए अब जदयू प्रत्याशी के तौर पर तमाड़ विधानसभा क्षेत्र से विजयी रहे राजा पीटर और मांडर विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक बंधु तिर्की अब जेल में रहकर चुनाव लडऩे की ताल ठोंक रहे हैं। बताते चलें कि राजा पीटर ने झामुमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी को चुनाव में मात दी थी।

Updated : 7 Nov 2019 7:04 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top