Home > राज्यवार > दिल्ली > दोपहिया वाहन में केवल 2 सवारी मान्य, तीसरी सवारी चाहे छोटा बच्चा क्यूँ ना हो चालान तो कटेगा

दोपहिया वाहन में केवल 2 सवारी मान्य, तीसरी सवारी चाहे छोटा बच्चा क्यूँ ना हो चालान तो कटेगा

दोपहिया वाहन में केवल 2 सवारी मान्य, तीसरी सवारी चाहे छोटा बच्चा क्यूँ ना हो चालान तो कटेगा
X

दिल्ली, ब्यूरो | नए ट्रैफिक नियम में लोगों को नए-नए नियम-कानून पता चल रहे हैं और नियम तोड़ने पर चालान लग रहे हैं बहुत भारी-भरकम। बाइक पर ट्रिपलिंग यानी तीन सवारी के चलने पर पाबंदी है। दो से अधिक सवारी बैठेगी तो चालान कटेगा। ऐसे में एकदम मुमकिन है कि अगर कोई परिवार बाइक से जा रहा हो, और सवारी की गोद में कोई बच्चा बैठा हो, तो पुलिस बच्चे के नाम पर बाइक सवार चालान काट दे। क्योंकि पुराने और 2019 में संशोधित होकर आए मोटर वेहिकल ऐक्ट में बाइक को टू-सीटर माना गया है। मतलब, इस पर दो ही लोगों की सवारी मान्य है। अगर इनसे अधिक कोई भी व्यक्ति सवारी करता है तो उसे तीसरी सवारी में गिना जाएगा।

भारत में सड़क पर चलने वाले वाहनों में दो-तिहाई लगभग दुपहिया वाहन हैं। बाइक बनाने वाली कंपनियां अक्सर ऐसे बाइक बनाती हैं, जिनसे बाइक 200 से 300 किलो का वजन उठा सके। लेकिन नियम कहते हैं कि दो से ऊपर कोई नहीं बैठ सकता है। अगर बैठता है तो नए कानून के मुताबिक़ 2 हज़ार रुपयों का जुर्माना लगेगा। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के संयुक्त आयुक्त कन्नन जगदीशन ने बताया कि नये कानून में दोपहिया पर शिशु या बच्चों के लिए कोई गाइडलाइन नहीं है। ऐसे में उसे तीसरी सवारी ही माना जाएगा।

Updated : 13 Sep 2019 8:24 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top