Top
Home > प्रमुख ख़बरें > छापेमारी के बाद पकौड़े वाले ने सरेंडर किए 60 लाख रुपए

छापेमारी के बाद पकौड़े वाले ने सरेंडर किए 60 लाख रुपए

छापेमारी के बाद पकौड़े वाले ने सरेंडर किए 60 लाख रुपए
X

नई दिल्ली। कुछ समय पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोजगार को लेकर किए गए एक सवाल का जवाब देते हुए कहा था कि अगर कोई पकौड़ा बेचकर प्रतिदिन 200 रुपये कमाता है तो उसे भी नौकरी के तौर पर माना जाना चाहिए। मोदी के इस बयान का काफी मजाक बनाया गया था। मोदी के इस बयान को लेकर तमाम विपक्षी दलों ने उनकी जमकर आलोचना की थी। तब शायद ही किसी को अंदाजा रहा होगा कि एक पकौड़े वाले के यहां भी आयकर विभाग छापेमारी कर सकता है। लेकिन यहां हम एक ऐसे पकौड़े वाले के बारे में बता रहे हैं जिसने इनकम टैक्स की रेड के बाद 60 लाख रुपए सरेंडर किए हैं। मामला पंजाब के लुधियाना का है। यहां के मशूहर पन्ना सिंह 'पकौड़ेवाले' के वहां आयकर विभाग की छापेमारी हुई है। दरअसल आयकर विभाग को इस बात की पुख्ता जानकारी मिली थी कि पकौड़ेवाले ने टैक्स बचाने के लिए अपनी कम आय दर्शाई है।इसके बात आयकर विभाग ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है पन्ना सिंह के मॉडल टाउन और गिल रोड स्थित आउटलेट्स पर अपनी नजर रखना शुरू कर दिया। इसके लिए आयकर विभाग ने बकायदा अपने एक अधिकारी को दुकान में हो रही आय के बारे में जानकारी रखने के लिए तैनात कर दिया। बाद में सालाना अनुमानित आय के आधार पर पकौड़ेवाले की आय का आंकलन किया गया जो उसके वार्षिक रिटर्न से काफी कम था।

Updated : 7 Oct 2018 9:34 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top