Top
Home > अंतर्राष्ट्रीय > हर घंटे 3 हजार करोड़ का नुकसान करने वाला जाम आखिर खुल गया

हर घंटे 3 हजार करोड़ का नुकसान करने वाला जाम आखिर खुल गया

स्वेज नहर में 23 मार्च से लगा जाम छह दिन बाद सोमवार को खुल गया।

हर घंटे 3 हजार करोड़ का नुकसान करने वाला जाम आखिर खुल गया
X

एजेंसी

काहिरा : स्वेज नहर में 23 मार्च से लगा जाम छह दिन बाद सोमवार को खुल गया।नहर में फंसे 'एवरग्रीन' नाम के जहाज को निकाल लिया गया है। जहाज के फंसने की वजह से नहर में यातायात बंद हो गया था, जिस वजह से हर घंटे लगभग 400 मिलियन डॉलर यानी करीब 3 हजार करोड़ का नुकसान हो रहा था। नहर के बंद होने से वैश्विक व्यापार को बड़ा झटका लगने की आशंका थी।

स्वेज नहर दुनिया के सबसे व्यस्ततम समुद्री मार्गों में से एक है। पूरी दुनिया में होने वाले समुद्री कारोबार का 12% आवागमन इसी नहर से होता है। नहर बनने के बाद एशिया और यूरोप के बीच की दूरी 6000 किलोमीटर कम हो गई है। इसके साथ ही सफर में लगने वाले समय में भी लगभग 7 दिनों की कमी आई है। यही वजह है कि एशिया और यूरोप के बीच समुद्री यातायात के लिए स्वेज नहर से गुजरना सबसे फायदे भरा सौदा है। 2020 में इस नहर से 19,000 से भी ज्यादा जहाजों का आवागमन हुआ था। रोजाना यहां से लगभग 50 जहाज गुजरते हैं जिन पर 10 बिलियन डॉलर यानी करीब 73 हजार करोड़ रुपए तक का सामान लदा होता है।

'एवरग्रीन' जहाज चीन से माल लादने के बाद नीदरलैंड के पोर्ट रॉटरडैम जा रहा था। जहाज स्वेज नहर से गुजर रहा था, लेकिन तेज और धूलभरी हवा की वजह से नहर में ही फंस गया। 400 मीटर लंबे इस जहाज में 2 लाख टन से भी ज्यादा का माल लदा है। इस जहाज को 2018 में बनाया गया था, जिसे एवरग्रीन मरीन नामक कंपनी संचालित करती है। जहाज के चालक दल में 25 भारतीय भी शामिल हैं। जहाज के फंसने से नहर में यातायात पूरी तरह बंद हो गया। नहर के दोनों छोर पर करीब 150 जहाज और फंस गए। इन जहाजों में पेट्रोलियम प्रोडक्ट से लेकर खाने-पीने की चीजें लदी हुई थीं।

Updated : 30 March 2021 3:20 AM GMT
Tags:    

Shivani

Magazine | Portal | Channel


Next Story
Share it
Top