Top
Home > प्रमुख ख़बरें > जदयू और भाजपा में उठापटक

जदयू और भाजपा में उठापटक

जदयू और भाजपा में उठापटक
X

एक बार फिर भाजपा और जदयू अब अपनी-अपनी जमीन को लेकर आमने-सामने खड़ी हो गई है। सामने लोकसभा चुनाव है, लेकिन दोनों दलों के बीच संग्राम छिड़ने की खबरें आ रही हैं।पटना यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव को लेकर बिहार भाजपा और उसके सहयोगी दल नीतीश कुमार के जनता दल यूनाइटेड में तकरार हो गया। इस तकरार में नीतीश कुमार के खास प्रशांत किशोर निशाने पर आ गए हैं। भाजपा उन पर हमलावर हो गई है। हालांकि, भाजपा ने सीधे तौर पर उनका नाम नहीं लिया है।

कोली सीफूड एंड मुगलय फुड्स फेस्टिवल का आयोजन 07 दिसंबर से

गौरतलब है कि दो दिन पहले एबीवीपी की जदयू के छात्र विंग के कार्यकर्ताओं से झड़प हो गई थी। इसके बाद जदयू की तरफ से इस मामले में एफआईआर दर्ज करवाई गई। पुलिस ने विद्य़ार्थी परिषद के स्थानीय दफ्तर पर छापेमारी की थी। इसके बाद भाजपा हमलावर हो गई है। भाजपा ने कहा कि पुलिस, प्रशासन और कुछ इवेंट मैनेजमेंट प्रोफेशनल्स पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ का चुनाव प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं। इवेंट प्रोफेशनल्स को जदयू नेताओं की तरफ इशारे के रूप में देखा जा रहा है। भाजपा ने कहा कि कई दल बाहर से अपराधी किस्म के लोगों को कैंपस में बुलाकर माहौल को खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। ये शातिर लोग बाहरी लोगों के माध्यम से नाटकीय तौर पर घटना को अंजाम देकर उसे आपराधिक रंग दे रहे हैं, जिसके सहारे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद उम्मीदवारों की न सिर्फ छवि धूमिल करने की कोशिश की जा रही है, बल्कि उन्हें परेशान भी किया जा रहा है।

जनसंख्या नियंत्रण कानून के बिना रामराज्य असंभव

भाजपा ने आरोप लगाया कि पुलिस-प्रशासन के माध्यम से एबीवीपी उम्मीदवारों व समर्थक छात्रों को दबिश देकर आतंकित किया जा रहा है, ताकि वे प्रचार न कर सकें और चुनावी प्रक्रिया से बाहर हो जाएं। इस बाबत जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि भाजपा बेवजह रूप से छोटे से मुद्दे को बड़ा बना रही है। गौरतलब है कि अभी दोनों दलों के बीच लोकसभा चुनाव के लिए सीटों पर समझौता हुआ है। ऐसे में इस तरह के छोटी छोटी तकरार का फायदा राजद ले सकती है। जिसके लिए वह तैयार बैठी है।

Updated : 3 Dec 2018 9:38 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top