Home > राज्यवार > झारखण्ड > रांची के काली दिउड़ी मंदिर में 300 साल बाद खोली गई दानपेटी, लोगों के होश उड़ गए

रांची के काली दिउड़ी मंदिर में 300 साल बाद खोली गई दानपेटी, लोगों के होश उड़ गए

दानपेटी में से चार लाख 27 हजार आठ सौ तीन रुपये निकले। इससे पूर्व दान की राशि का कभी हिसाब-किताब नहीं रहा।

रांची के काली दिउड़ी मंदिर में 300 साल बाद खोली गई दानपेटी, लोगों के होश उड़ गए
X

राजीव रंजन

रांची: झारखण्ड के प्रसिद्ध प्राचीन काली दिउड़ी मंदिर में 300 वर्षों बाद पहली बार शुक्रवार को नवगठित कमेटी के समक्ष दानपेटी खोली गयी। गिनती जब पूरी हुई तो लोगों के होश उड़ गए और चारों तरफ इसकी चर्चा होने लगी।

जानकारी के अनुसार, दानपेटी में से चार लाख 27 हजार आठ सौ तीन रुपये निकले। इससे पूर्व दान की राशि का कभी हिसाब-किताब नहीं रहा। मंदिर के इतिहास को देखा जाये तो यह पहली बार हुआ कि सार्वजनिक रूप से दानपेटी खोली गयी हो।

ज्ञात हो कि अक्तूबर 2020 में बुंडू एसडीएम उत्कर्ष गुप्ता की उपस्थिति में अधिकारिक रूप से दिउड़ी मंदिर सह दानपेटियों का अधिग्रहण कर लिया गया था। तब मंदिर के सरकारी अधिग्रहण को लेकर काफी बवाल मचा था।

इन तीन महीने में श्रद्धालुओं द्वारा दान में दी गयी राशि की गिनती अंचल कार्यालय में सीओ कमल किशोर सिंह की निगरानी में की गयी। दान में मिली राशि को बैंक ऑफ इंडिया रायडीह, तमाड़ शाखा में कमेटी के संयुक्त खाते में जमा किया गया।

इससे पहले विधायक विकास मुंडा, प्रबंधन कमेटी के अध्यक्ष एसडीएम उत्कर्ष गुप्ता के नेतृत्व में सीओ कमल किशोर सिंह, बीडीओ राहुल कुमार, विधायक प्रतिनिधि ऋषिकेश महतो, मृत्युंजय महतो सहित अन्य अधिकारियों ने दिउड़ी मंदिर में विधिवत पूजा-अर्चन की। इसके बाद तमाम सदस्यों की मौजूदगी में सभी छह दानपेटियों को खोला गया।

Updated : 30 Jan 2021 3:20 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top