Home > राज्यवार > दिल्ली > तबादलों के मामले में केजरीवाल सरकार का भ्रष्टाचार उजागर : विजेन्द्र गुप्ता

तबादलों के मामले में केजरीवाल सरकार का भ्रष्टाचार उजागर : विजेन्द्र गुप्ता

तबादलों के मामले में केजरीवाल सरकार का भ्रष्टाचार उजागर : विजेन्द्र गुप्ता
X

रिपोर्ट ¦ संतोष कुमार नई दिल्ली : दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने केजरीवाल सरकार पर गंभीर आरोप लगाया है. उनका कहना है कि 14 फरवरी 2015 तथा 04 अगस्त 2016 के बीच सेवा विभाग केजरीवाल सरकार के नीचे ही काम कर रहा था. इस अवधि में केजरीवाल सरकार ने ट्रेड एंड टैक्सेज विभाग में अपने चहेते अधिकारियों को नियुक्ति दी.ये भी पढ़ें... ‘दिल्ली सरकार के 70 वादे, 74 झूठ और हर झूठ एक धोखा’नेता प्रतिपक्ष का आरोप है कि ट्रेड एंड टैक्सेज विभाग में 18 उच्च अधिकारियों को मुख्यमंत्री केजरीवाल की स्वीकृति से नियुक्ति दी गई. इनमें से 9 अधिकारी उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया तथा 9 अधिकारी तत्कालीन सचिव, सेवाएं राजेन्द्र कुमार द्वारा मुख्यमंत्री के कहने पर तैनात किए गए.ये भी पढ़ें...‘मेरा परिवार, भाजपा परिवार’ अभियान के तहत तेजराम फौर ने लगाया लोगों के घर पार्टी का झंडाविजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि जब केजरीवाल सरकार के इन चहेते अधिकारियों से मतभेद बढ़ गए तो उसने भी मान लिया कि ये अधिकारी चपरासी के काम के लायक नहीं हैं तथा उन्हें 26 अक्तूबर 2018 को सेवा विभाग को वापस कर दिया गया और आरोप उप राज्यपाल पर मढ़ दिया कि उन्होंने सर्विसेज विभाग में पोस्टिंग/ ट्रांसफर के मामले में सरकस बना रखा है जिसके वे स्वयं रिंगलीडर हैं.ये भी पढ़ें...आतंकी हमले से जब देश शोक में डूबा था, तो क्या कर रहे थे भाजपा के बड़े नेता?विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि वे उप राज्यपाल से मिल कर पूरे मामले में उच्चस्तरीय जांच की मांग करेंगे. गुप्ता ने कहा कि राजेन्द्र कुमार वही अधिकारी हैं जिनके खिलाफ सीबीआई केस दर्ज है और वह सस्पेंड चल रहे हैं. इसी तरह सर्विसेज वापस किए गए अधिकारी जितेन्द्र कुमार जिनकी तैनाती उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्रेड एंड टैक्सेज विभाग में की थी, उन्हें भी सीबीआई ने गिरफ्तार किया है और वे सस्पेंड चल रहे हैं. इस पत्रकार वार्ता में दिल्ली भाजपा के मीडिया प्रभारी प्रत्युष कंठ, प्रमुख अशोक गोयल देवराह भी मौजूद थे.

Updated : 2 March 2019 7:31 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top