जानिये उल्लू के बेवक़ूफ़ या समझदार होने की सच्चाई

जानिये उल्लू के बेवक़ूफ़ या समझदार होने की सच्चाई

न्यूज़ डेस्क |

अक्सर उल्लू शब्द को बेवक़ूफ़ बोलने के लिए प्रयोग में लाया जाता है, लेकिन जो असल में उल्लू पक्षी होता है, वो बेवक़ूफ़ है या समझदार। अआप्को तो पता ही होगा की भारत में उल्लू शब्द को लेकर कई सारी बातें बनाई जाती हैं। आपको बता दें की पुरानी कथाओं के अनुसार उल्लू पक्षी को लक्ष्मी माँ का वाहन माना जाता है। वहीँ देखा जाए तो पश्चिमी देशों में उल्लू को समझदारी का प्रतीक माना जाता है। उल्लू की समझदारी और चालाकी का सबूत महाभारत में भी मौजूद है, वो क्या है की महाभारत के शकुनी मामा के पुत्र का नाम भी उलूक था। अब शकुनी मामा की चालाकी तथा दिमाग से तो आप वाकिफ होंगे ही। लेकिन शकुनी की छवि के कारण से शायद लोग उल्लू को नासमझी और बेवकूफ का नाम देने लगे।

संबंधित इमेज

दिन में सोने और रात में सक्रिय रहने की वजह से इसे कई लोग रहस्‍मयी मानते हैं और इसलिए तंत्र-मंत्र में भी इसका इस्‍‍तेमाल किया जाता है। लेकिन अपने आप में ये गजब है। बेहतरीन शिकारी, सुनने में चालाक, माहौल में खो जाने की कला और 360 डिग्री पर घूमती गर्दन, उल्‍लू के बारे में जानने को काफी कुछ है। उल्‍लू एक ऐसा पक्षी है जिसे मांस खाने वाले भी नहीं मारते हैं क्‍योंकि इसे शकुन-अपशकुन से जोड़कर देखा जाता है। रात के समय उल्‍लू का बोलना अपशकुन और दुर्भाग्‍य भरा माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि महमूद गजनी के क्रूर आक्रमणों और अत्‍याचारों को देखते हुए एक दिन उनके बेहद अक्‍लमंद मंत्री ने सोचा कि क्‍यों न सुल्‍तान को ये समझाने की कोशिश की जाए कि वो क्‍या कर रहे हैं।

संबंधित इमेज

वो एक रात उन्‍हें अपने साथ घने जंगलों की सैर पर लेकर गए। जंगल में लगभग सूख चुके एक पेड़ पर दो उल्‍लू बैठे थे। चांद की मद्धम रोशनी थी। सुल्‍तान ने मंत्री से पूछा कि ये दोनों आपस में क्‍या बात कर रहे हैं। मंत्री ने कहा कि सुल्‍तान, एक उल्‍लू दूसरी उल्‍लू से अपनी संतान की शादी की बात कर रहा है। दूसरा उल्‍लू जानना चाहता है कि दहेज में उसे कितने निर्जन गांव मिलेंगे। इस पर सुल्‍तान ने पूछा कि दूसरे उल्‍लू ने क्‍या जवाब दिया। मंत्री ने कहा कि उल्‍लू कह रहा है कि जब तक सुल्‍तान जिंदा हैं, निर्जन गांवों की कोई कमी नहीं है। बताते हैं कि मंत्री की इस बात का सुल्‍तान पर बहुत गहरा असर हुआ और उन्‍होंने अपनी तलवार म्‍यान में डाल दी।

Uday Sarvodaya Team

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *