Top
Home > प्रमुख ख़बरें > यूपी की तरह बिहार में भी महागठबंधन से बाहर हो सकती है कांग्रेस, राजद ने बनाया प्लान-B

यूपी की तरह बिहार में भी महागठबंधन से बाहर हो सकती है कांग्रेस, राजद ने बनाया प्लान-B

यूपी की तरह बिहार में भी महागठबंधन से बाहर हो सकती है कांग्रेस, राजद ने बनाया प्लान-B
X

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) : लोकसभा चुनाव 2019 के लिए बिहार में महागठबंधन के बीच सीट शेयरिंग का फॉर्मूला अभी तक तय नहीं हो पाया है. कांग्रेस बिहार में 15 लोकसभा सीटों की मांग कर रही है. माना जा रहा है कि वह 12 से कम सीटों पर समझौता नहीं करेगी. कांग्रेस के इन तेवरों से राजद अब 'वैकल्पिक योजना' यानी छोटी-छोटी पार्टियों को गठबंधन में जोड़ने पर विचार कर रही है, ताकि अगर कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं होता है तो वह इन छोटी पार्टियों के सहारे चुनावी मैदान में बीजेपी को पटखनी दे सके.बता दें कि बिहार महागठबंधन में शामिल घटक दल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की 3 फरवरी को पटना में होने वाली रैली से पहले सीट बंटवारे को अंतिम रूप देने की तैयारी में हैं, वहीं राहुल गांधी की पटना रैली के जरिए कांग्रेस बिहार में अपनी ताकत दिखाना चाहती है. सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस चाहती है कि महागठबंधन में सीट शेयरिंग का ऐलान राहुल गांधी की रैली के बाद किया जाए. दूसरी ओर राजद नेता तेजस्वी यादव ने हाल ही में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती से लखनऊ में मुलाकात की थी. अखिलेश-माया ने यूपी में बनाए गठबंधन में कांग्रेस को जगह नहीं दी है.हालांकि मकर संक्रांति की दावत में तेजस्वी यादव, बिहार कांग्रेस के नेताओं के साथ देखे गए थे. सूत्रों के मुताबिक, राजद ने आरएलएसपी और अन्य पार्टियों को गोपालगंज जैसी कुछ आरक्षित सीटें देने को तैयार नहीं. ऐसे में अगर कांग्रेस अगर 12 सीटों की अपनी मांग नहीं छोड़ती है तो राजद गोपालगंज की लोकसभा सीट बसपा को दे सकती है. सूत्रों के मुताबिक, राजद के एक नेता ने इस बात की पुष्टि की है कि वे प्लान बी (वैकल्पिक योजना) पर काम कर रहे हैं. हालांकि अभी तक कांग्रेस के साथ चल रही बातचीत असफल नहीं हुई है. सूत्रों के मुताबिक, राजद महागठबंधन में कांग्रेस को 10 सीटें देने के लिए तैयार है.

Updated : 23 Jan 2019 7:16 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top