Home > राष्ट्रीय > आम जनता को मिल सकती है महंगाई से राहत, घट सकती हैं पेट्रोल डीजल की कीमतें, जानें कैसे

आम जनता को मिल सकती है महंगाई से राहत, घट सकती हैं पेट्रोल डीजल की कीमतें, जानें कैसे

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती महंगाई से आम जनता को राहत मिल सकती है। वस्तु एवं सेवा कर (GST) परिषद की 17 सितंबर की बैठक में पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने पर विचार हो सकता है।

आम जनता को मिल सकती है महंगाई से राहत, घट सकती हैं पेट्रोल डीजल की कीमतें, जानें कैसे
X

उदय सर्वोदय

नई दिल्ली : पेट्रोल-डीजल की बढ़ती महंगाई से आम जनता को राहत मिल सकती है। वस्तु एवं सेवा कर (GST) परिषद की 17 सितंबर की बैठक में पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने पर विचार हो सकता है। अगर पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया गया तो इसकी कीमतों में गिरावट हो सकती है।

यह एक ऐसा कदम होगा, जिसके लिए केंद्र और राज्य सरकारों को राजस्व के मोर्चे पर जबरदस्त 'समझौता' करना होगा। केंद्र और राज्य दोनों को इन उत्पादों पर कर के जरिये भारी राजस्व मिलता है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अगुवाई वाली जीएसटी परिषद में राज्यों के वित्त मंत्री भी शामिल हैं। परिषद की बैठक शुक्रवार को लखनऊ में हो रही हैं।

सूत्रों ने बताया कि इस बैठक में कोविड-19 से जुड़ी आवश्यक सामग्री पर शुल्क राहत की समयसीमा को भी आगे बढ़ाया जा सकता है. देश में इस समय वाहन ईंधन के दाम रिकॉर्ड ऊंचाई पर हैं। ऐसे में पेट्रोल और डीजल ईंधनों के मामले में कर पर लगने वाले कर के प्रभाव को खत्म करने के लिए यह कदम उठाया जा सकता है।

केरल उच्च न्यायालय ने जून में एक रिट याचिका पर सुनवाई के दौरान जीएसटी परिषद से पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के तहत लाने पर फैसला करने को कहा था। सूत्रों ने कहा कि न्यायालय ने परिषद को ऐसा करने को कहा है। ऐसे में इसपर परिषद की बैठक में विचार हो सकता है।

देश में जीएसटी व्यवस्था एक जुलाई, 2017 से लागू हुई थी। जीएसटी में केंद्रीय कर मसलन उत्पाद शुल्क और राज्यों के शुल्क मसलन वैट को समाहित किया गया था लेकिन पेट्रोल, डीजल, एटीएफ, प्राकृतिक गैस तथा कच्चे तेल को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया।


Updated : 14 Sep 2021 4:12 PM GMT
Tags:    

Shivani

Magazine | Portal | Channel


Next Story
Share it
Top
petrol and diesel, inflation, GST, decrease, relief, public