Top
Home > प्रमुख ख़बरें > एनडीए में सीटों के बंटवारे का ऐलान

एनडीए में सीटों के बंटवारे का ऐलान

एनडीए में सीटों के बंटवारे का ऐलान
X

आपसी खींचतान के बाद फाइनली बिहार में एनडीए की सीटों का बंटवारा हो ही गया। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के घर पर बैठक के बाद अमित शाह ने कहा कि लंबी चर्चा के बाद तय हुआ है कि बीजेपी, जेडीयू 17-17 और एलजेपी 6 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी। शाह ने कहा, ‘रामविलास पासवान को आगे आने वाले राज्यसभा चुनाव में एनडीए का प्रत्याशी बनाया जाएगा। एनडीए की गठबंधन की स्ट्रेंथ को देखकर तीनों पार्टियों ने फैसला लिया है। जल्द ही एनडीए का राजनीतिक अजेंडा लोगों के सामने लेकर जाएंगे।’सीट बंटवारे की जानकारी देते हुए अमित शाह ने 2019 को लोकसभा चुनावों में 2014 से भी ज्यादा सीटें जीतने का दावा किया। अमित शाह ने कहा कि कौन कहां से चुनाव लड़ेगा इसकी जानकारी बाद में दी जाएगी। वहीं नीतीश कुमार और रामविलास पासवान ने भी कहा कि एक बार फिर केंद्र में एनडीए की सरकार बनेगी। प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमित शाह, नीतीश कुमार, राम विलास पासवान, चिराग पासवान मौजूद रहे।

बिहार राज्य खादी और ग्रामोद्योग बोर्ड ने किया रेमंड के साथ समझौता

पहले जब बीजेपी और जेडीयू ने आपस में सीटों का बंटवारा कर उपेंद्र कुशवाहा और रामविलास पासवान को साइडलाइन कर दिया था, तब पासवान काफी नाराज़ हो गए थे। उपेंद्र कुशवाहा का एनडीए से अलग होने का लाभ रामविलास पासवान को ज़रूर मिला है। अब वो एनडीए में सीट शेयरिंग का फॉर्मुला तय हो जाने के बाद से काफी सहज नज़र आ रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि गठबंधन पार्टियों के बीच सबकुछ ठीक था और आगे भी रहेगा। लेकिन, पिछले दिनों उनके बेटे चिराग पासवान ने सीट शेयरिंग को लेकर बीजेपी पर दबाव तो बनाया ही था। जिसके बाद से पासवान के एनडीए से निकलने की आशंका भी जताई जा रही थी।सीट बंटवारे के बाद रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि ‘मैं बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, नीतीश कुमार और अरुण जेटली को बहुत बहुत धन्यवाद देना चाहता हूं। हमारे अंदर कभी कुछ गड़बड़ नहीं थी। अगली बार फिर मोदी जी के नेतृत्व में एनडीए की सरकार बनेगी। बिहार में 40 में से 40 सीटों का टारगेट है।’राज्य सभा जाएंगे रामविलास पासवानदोनों दलों के बीच गतिरोध की एक बड़ी वजह एलजेपी प्रमुख राम विलास पासवान को राज्यसभा भेजे जाने की मांग थी। पासवान को राज्यसभा भेजे जाने पर बीजेपी ने हामी भर दी है। संभावना है कि अगले साल असम से खाली हो रही दो राज्यसभा सीटों में से एक पर राम विलास पासवान को राज्यसभा भेजा जाएगा। 2009 में लोकसभा चुनाव हारने के बाद 2010 में राम विलास पासवान पहली बार बिहार से राज्यसभा के लिए चुने गए थे।

Updated : 23 Dec 2018 8:50 AM GMT
Next Story
Share it
Top