Top
Home > प्रमुख ख़बरें > ये दस्तावेज नहीं दिखाया तो रद्द हो जाएगी नेताजी की उम्मीदवारी

ये दस्तावेज नहीं दिखाया तो रद्द हो जाएगी नेताजी की उम्मीदवारी

ये दस्तावेज नहीं दिखाया तो रद्द हो जाएगी नेताजी की उम्मीदवारी
X

नई दिल्ली (उदय सर्वोदय डेस्क) : लोकसभा चुनाव 2019 की तारीखों का ऐलान होने के साथ ही आचार संहिता भी लागू हो गई है. चुनाव आयोग इस बार उम्मीदवारों के अपराधिक इतिहास और उनकी आय के ब्यौरे को लेकर पहले से ख़ासा सख्त रहने वाला है. चुनाव आयोग ने स्पष्ट कर दिया है कि अपराधिक इतिहास वाले उम्मीदवारों को अपने अपराधिक रिकॉर्ड का ब्यौरा लोकप्रिय टीवी चैनल और अखबार में कम से कम तीन बार देना ज़रूरी है. इसके आलावा उम्मीदवारों को अपनी और परिवार की कमाई का पांच साल का ब्यौरा देना अनिवार्य है.इस एक दस्तावेज के बिना उम्मीदवारी होगी रद्दचुनाव आयोग इस बार उम्मीदवारों की कमाई और संपत्ति के ब्यौरे को लेकर काफी सख्ती से पेश आ रहा है. बता दें कि हलफनामा दाखिल करते वक़्त अब पैन कार्ड का नंबर देना अनिवार्य कर दिया गया है. जिस भी उम्मीदवार ने ऐसा नहीं किया उसका परचा रद्द कर दिया जाएगा. गौरतलब है कि देश में अभी भी 199 विधायक और 7 सांसद ऐसे हैं जिन्होंने अपने पैन नंबर की जानकारी चुनाव आयोग के साथ साझा नहीं की है. एडीआर और नेशनल इलेक्शन वॉच ने देश में मौजूद कुल 542 सांसद और 4,086 विधायकों की पैन नंबर से जुड़ी जानकारी की छानबीन में पता लगाया है कि कांग्रेस के 51 विधायक ऐसे हैं जिन्होंने अभी तक चुनाव आयोग को पैन नंबर नहीं दिया है.सोशल मीडिया पर खर्चे की भी जानकारी देनी होगीउम्मीदवारों को सोशल मीडिया अकाउंट और उसके जरिए चुनाव प्रचार पर होने वाले खर्च का भी पूरा ब्यौरा इलेक्शन कमीशन को देना होगा. इस खर्चे को भी चुनावी खर्चे में शामिल किया जाएगा. उम्मीदवारों को ये भी बताना होगा कि उनके कितने सोशल मीडिया अकाउंट हैं और उन्हें चलाने वाली टीम पर कितना खर्च किया जा रहा है. उमीदवारों की सोशल मीडिया प्रोफाइल्स से फेक न्यूज़ या अफवाह फैलाने जैसी स्थिति पर सख्त कदम उठाए जाएंगे.

Updated : 11 March 2019 8:53 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top