Home > राज्यवार > दिल्ली > न्यू टूरिज्म फाउंडेशन ने 'नए भारत, नए लद्दाख' की शुरूआत की

न्यू टूरिज्म फाउंडेशन ने 'नए भारत, नए लद्दाख' की शुरूआत की

न्यू टूरिज्म फाउंडेशन ने नए भारत, नए लद्दाख की शुरूआत की
X

देबदुलाल पहाड़ीभारत की पर्यटन और विरासत के लिए समर्पित संस्था न्यू टूरिज्म फाउंडेशन ने 'नए भारत, नए लद्दाख' पर एक दिवसीय सेमिनार का आयोजन किया। इस सेमिनार में पर्यटन एवं संस्कृति राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रहलाद सिंह पटेल मुख्य अतिथि के रुप में शामिल हुए। इसे अलावा अन्य वक्ताओं में लद्दाख से भाजपा सांसद जामयांग सेरिंग नामग्याल, लद्दाख विश्वविद्यालय के उप कुलपति और जम्मू-कश्मीर के पूर्व सचिव सी फुंसोक और पूर्व पर्यटन सचिव विनोद जुत्शी मौजूद थे।इस मौके पर मीडिया को संबोधित करते हुए पर्यटन राज्य मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने कहा, " मेरा मानना है कि हम संस्कृति को अलग नहीं कर पर्यटन से अलग नहीं कर सकते और जो कोई भारत आता है वे भारत की विरासत को देखने आते हैं। लद्दाख सुंदरता और समृद्ध संस्कृति के एक आदर्श संयोजन के साथ सबसे सुंदर गंतव्य स्थलों में से एक है। इस गंतव्य स्थल के बारे में सबसे अच्छी बात ये है कि वे गुणवत्ता वाले पर्यटन को प्रोत्साहित करने की इच्छा रखते हैं जो ये दर्शाता है कि वे अपने गंतव्य स्थल की कितनी परवाह करते हैं। हम भी लेह लद्दाख में साहसिक पर्यटन के लिए एक पूरी तरह से सुसज्जित सुविधा सह प्रशिक्षण केंद्र का प्रस्ताव रखते है और साथ ही ये प्रस्ताव रखते है कि क्या लेह लद्दाख में पर्यटन सुविधाओं के लिए हमारे पास समस्त मार्ग की जानकारी हो सकती है। ये पीपीपी मॉडल या सरकार द्वारा चलाया जाने वाला हो, ये तय नहीं है। हालाँकि हम जो चाहते हैं वह ये है कि लद्दाख जैसी जगह पर प्रदूषण नहीं होना चाहिए और इसके अलावा लद्दाख में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हमारा शत-प्रतिशत समर्थन है। "समय की जरूरत है कि लद्दाख को घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों के सामने विश्व के एक सर्वोत्तम पर्यटन स्थल के रुप में पेश किया जाए। पर्यटन मंत्रालय ने लद्दाख में पर्यटन को बढ़ाने के लिए क्षमता निर्माण, जागरुकता बढ़ाकर, होटलों की कमी को दूर करने के लिए ब्रेक एंड ब्रेकफास्ट योजना को प्रोत्साहित करने और साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अपनी प्रतिबद्धता और योजनाओं की घोषणा की है।इस नई पहल की चर्चा करते हुए न्यू टूरिज्म फाउंडेशन के अध्यक्ष विनोद जुत्शी ने कहा, "नवगठित केंद्रशासित प्रदेश में पर्यटन और सांस्कृतिक गतिविधियों के अपार अवसर है। केंद्र के साथ बेहतर समन्वय और ज्यादा संसाधनों की मदद से लद्दाख में पर्यटन के बढ़ने की अपार संभावनाएं है। न्यू टूरिज्म फाउंडेशन देश के इस समृद्ध पर्यटन स्थल को वैश्विक पटल पर लाना चाहता है।"टूरिज्म फाउंडेशन के महासचिव सुनील गुप्ता ने कहा, "न्यू टूरिज्म फाउंडेशन भारत में पर्यटन से जुड़े मुद्दों पर काम करना चाहता है और इस तरह के शैक्षिक सेमिनारों को आयोजन करता रहेगा। साथ ही फाउंडेशन देश में पर्यटन को बढ़ावा देने की दिशा में काम करेगा।"लद्दाख से भाजपा सांसद जामयांग सेरिंग नामग्याल ने कहा कि " लदाख एक बहत ही सुंदर स्थान है। जो कि अभितक खोजा नही गया है यहाँ पर्यावरण संरक्षण की बहुत जरूरत है। हरदिन 30000 पानि के बोतलें का पुनरुपयोग नही हो रहा है जो कि पर्यावरण कि दृष्टि से यह एक बहुत बड़ा नुकसान है । और हम सबका जिम्मेदारी है इसे बचाना। इधर के पर्यटन का उन्नति से साधारण लोगो को भी फायदा होगी।

Updated : 6 Dec 2019 10:13 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top