महाशिवरात्रि 4 मार्च को, जानिए महत्व, शुभ मुहूर्त और पूजा-विधि

महाशिवरात्रि 4 मार्च को, जानिए महत्व, शुभ मुहूर्त और पूजा-विधि

नई दिल्ली (उदय सर्वोदय स्टाफ) : सोमवार, 4 मार्च को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाने वाला है. इस दिन भगवान शिव की पूजा की जाती है. भक्त, मंदिरों में शिव जी की पूजा अर्चना तकरते हैं. उन्हें दूध, फल, बेल, भांग, तुलसी और पैसे चढ़ाते हैं. कई लोग इस दिन भगवान शिव के नाम पर व्रत भी रखते हैं. प्रयागराज में चल रहे कुंभ में इस दिन आखिरी शाही स्नान होगा. साथ ही कुंभ मेले का समापन भी.

महाशिवरात्रि का शुभ मुहूर्त
शुभ मुहूर्त शुरू : शाम 04:28, 4 मार्च 2019
शुभ मुहूर्त समाप्त : 07:07, 5 मार्च 2019

क्यों मनाते हैं महाशिवरात्रि
हिंदू पुराणों में महाशिवरात्रि का अपना अलग महत्व है. कई लोगों का कहना है कि इस दिन भगवान शिव का जन्मदिन होता है. इस दिन भगवान शिव, शिवलिंग के रूप में प्रकट हुए थे. वहीं, कई लोगों का कहना है कि इस दिन ब्रह्मा जी ने महाशिवरात्रि के दिन ही शंकर का रुद्र रूप अवतरण किया था. इसके अलावा कई लोगों का कहना है कि इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की शादी हुई थी. इसलिए महाशिवरात्रि का पर्व जोर-शोर से मनाया जाता है.

महाशिवरात्रि पूजा की सामग्री और विधि
अगर इस दिन आप मंदिर में जाकर पूजा-अर्चना करना चाहते हैं तो इसके लिए कई तैयियां करनी होती हैं. जैसे शिव लिंग के अभिषेक के लिए दूध या पानी, कुछ बूंदे शहद एक साथ मिलाएं. अभिषेक के बाद शिवलिंग पर सिंदूर लगाएं. बाद में धूप और दीपक जलाएं. बेल और पान के पत्ते चढ़ाएं. आखिर में अनाज और फल चढ़ाएं. पूजा संपन्न होने तक ‘ओम नम: शिवाय’ का जाप करते रहें.

क्या है महाशिवरात्रि का महत्व
महाशिवरात्रि का दिन शिव भक्तों के लिए बड़ा ही खास और महत्वपूर्ण होता है. इस दिन लोग भगवान शंकर के नाम व्रत रखते हैं. महिलाओं के लिए ये दिन काफी खास होता है. ऐसी मान्यता है कि महाशिवरात्रि का व्रत रखने से अविवाहित महिलाओं की शादी जल्दी होती है. वहीं, विवाहित महिलाएं अपने पति के सुखी जीवन के लिए महाशिवरात्रि का व्रत रखती हैं.

शिवरात्रि व महाशिवरात्रि में अंतर
पूरे साल में 12 शिवरात्रि होती हैं. इसमें से महाशिवरात्रि सबसे महत्वपूर्ण मानी जाती है. हर महीने कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी के दिन आने वाली शिवरात्रि को सिर्फ शिवरात्रि कहा जाता है. लेकिन फाल्गुन मास की कृष्ण चतुर्दशी के दिन आने वाले शिवरात्रि को महाशिवरात्रि कहा जाता है. कई लोग इसे बड़ी शिवरात्रि के नाम से भी जानते हैं.

Ravi Prakash

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *