Home > राष्ट्रीय > 55 साल में यह पहली बार हो रहा है, मंदी अपनी चरम सीमा पर : पंकज मुंजाल

55 साल में यह पहली बार हो रहा है, मंदी अपनी चरम सीमा पर : पंकज मुंजाल

55 साल में यह पहली बार हो रहा है,  मंदी अपनी चरम सीमा पर : पंकज मुंजाल
X

दिल्ली, ब्यूरो | हीरो की साइकिल की लॉन्चिंग के दौरान हीरो साइकिल के चेयरमैन पंकज मुंजाल देश में मंदी और जीडीपी के आंकड़ों पर बोल गए। उन्होंने कहा कि मैंने अपने जीवन में ग्रोथ रेट का गिरना देखा है लेकिन ग्रोथ रेट का सिकुड़ना 55 साल में ऐसा कभी नहीं हुआ। उन्होंने ये भी कहा कि ग्रामीण और शहरी बाजार में खरीद करने की क्षमता घट गई है। लोग बचत करना चाहते हैं, शोरूम नहीं जाना चाहते। हो सकता है वह एक डर है और वह एक डेढ़ साल से हमें दिख रहा है, जिसे दूर करने की जरूरत है।

मुंजाल के पहले टाटा और मारुति जैसी बड़ी कंपनियों ने भी मंदी को लेकर अपनी चिंता ज़ाहिर की थी। मारुति के दो ऑटोमोबाइल प्लांट बंद हो चुके हैं। अशोक लेलैंड ने भी अपनी फैक्टरियों में बंदी के दिन बढ़ा दिए हैं। जीडीपी के आंकड़ों को लेकर सरकार की आलोचना होती रही है। ऑटोमोबाइल सेक्टर में आई मंदी भी एक चिंता का बड़ा विषय है। इस बारे में जब वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मिलेनियल ओला-ऊबर जैसी गाड़ियों का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसलिए गाड़ियों की बिक्री रुक गयी है।

Updated : 18 Sep 2019 2:46 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top