Top
Home > प्रमुख ख़बरें > पीएम मोदी ने सिखाया, क्या नहीं करना चाहिए-राहुल गांधी

पीएम मोदी ने सिखाया, क्या नहीं करना चाहिए-राहुल गांधी

पीएम मोदी ने सिखाया, क्या नहीं करना चाहिए-राहुल गांधी
X

नई दिल्लीकांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें सिखाया कि क्या नहीं करना चाहिए और उन्होंने 2014 के लोकसभा चुनावों में मिली करारी हार से भी काफी कुछ सीखा। राहुल ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री को विशाल जनादेश मिला था, लेकिन उन्होंने देश की धड़कन सुनने से इनकार कर दिया।एक साल के अंदर राहुल ने दिखाया दमहिंदीभाषी राज्यों राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के फिर से उदय के बाद राहुल ने कहा, मैं कल अपनी मां से बात कर रहा था और मैं उनसे कह रहा था कि मेरे लिए सबसे अच्छी बात कुछ हुई है, तो वह है 2014 का (लोकसभा) चुनाव। मैंने उस चुनाव से काफी कुछ सीखा है। राहुल ने कहा कि 2014 के चुनाव से उन्हें जो सबसे अहम चीज सीखने को मिली, वह विनम्रता है। उन्होंने कहा, यह एक महान देश है और इस देश में सबसे अहम चीज है कि लोग क्या मानते हैं।राहुल ने कहा कि एक नेता के तौर पर यह समझना होता है कि लोग क्या महसूस कर रहे हैं और वह जिस चीज को महसूस करते हैं, उससे जुड़ाव पैदा करना होता है। उन्होंने कहा, बेबाकी से कहें तो नरेंद्र मोदी जी ने मुझे सबक सिखाया कि क्या नहीं करना चाहिए। राहुल ने कहा, पांच साल पहले उन्हें इस देश में बदलाव लाने का बड़ा मौका दिया गया। दुखद चीज यह है कि उन्होंने देश की धड़कन सुनने से मना कर दिया।’राहुल गांधी के नेतृत्व का ही है कमाल : सरफराज सिद्दीकीउन्होंने आरोप लगाया कि मोदी ने युवाओं और किसानों की आवाज सुनने से इनकार कर दिया। राहुल ने जोर देकर कहा, थोड़ा अहंकार आ गया है। मेरा मानना है कि यह किसी नेता के लिए घातक होता है। उनके काम करने के तरीके से मैंने यह बात सीखी है। मेरे लिए इस देश के लोग ही सबसे अच्छे शिक्षक हैं। गौरतलब है कि जिस प्रकार से तीन राज्यों में कांग्रेस ने वापसी की है इसके बाद राहुल गांधी का यह पहला प्रेस कांफ्रेस था जिसमें उन्होंने खुलकर बात की।

Updated : 12 Dec 2018 4:36 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top