खेतों के बीच खनन की पेट्रोलिंग करते हुए पुलिस ने काटा बैलगाड़ी का चालान

खेतों के बीच खनन की पेट्रोलिंग करते हुए पुलिस ने काटा बैलगाड़ी का चालान

उत्तर-प्रदेश, ब्यूरो | नए मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद लगातार दबा के चालान काटे जा रहे हैं । कई अजीबोगरीब चालान के मामले भी सामने आए हैं । इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के बिजनौर में बैलगाड़ी का चालान काटने का मामला सामने आया है । 14 सितंबर को बिजनौर के साहसपुर में बैलगाड़ी का चालान काटा गया और फिर चालान रद्द कर दी क्योंकि मोटर व्हीकल एक्ट में बैलगाड़ी पर जुर्माने का कोई प्रावधान नहीं किया गया है । रियाज़ हसन 14 सितंबर को अपने खेत के बगल में बैलगाड़ी खड़े किए हुए थे । सब-इंस्पेक्टर पंकज कुमार की टीम इस क्षेत्र में पेट्रोलिंग कर रही थी । पुलिस ने बैलगाड़ी के पास किसी को न देखकर उसका चालान काट दिया । पुलिस ने फिर पता किया कि बैलगाड़ी किसकी है और फिर रियाज़ के घर चालान भिजवा दिया । रियाज़ ने इस मामले पर कहा कि-

मेरा चालान कैसे काटा जा सकता है?  मैंने तो बैलगाड़ी अपने खेत के सामने ही खड़ी की थी । मोटर व्हीकल एक्ट के तहत बैलगाड़ी का चालान कैसे काटा जा सकता है?

मामला बढ़ने पर 15 सितंबर को रियाज़ का चालान रद्द कर दिया गया । मसले पर साहसपुर पुलिस थाने के इनचार्ज पीडी भट ने कहा है कि पुलिस को उस क्षेत्र में बालू के अवैध खनन की जानकारी मिली थी। इसके बाद पुलिस की एक टीम पेट्रोलिंग पर थी । पुलिस को लगा कि इस बैलगाड़ी का इसी के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है । शाम के वक्त पुलिस ने आईपीसी की धारा के बजाय मोटर व्हीकल एक्ट के तहत चालान काट दिया । फ़िलहाल चालान को रद्द कर दिया गया है ।

Uday Sarvodaya Team

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *