Top
Home > राज्यवार > बिहार > 56 गांव की समस्याओं को लेकर आगे आए प्रशांत किशोर

56 गांव की समस्याओं को लेकर आगे आए प्रशांत किशोर

56 गांव की समस्याओं को लेकर आगे आए प्रशांत किशोर
X

मत बहिष्कार आंदोलन की चर्चा मुख्यमंत्री आवास तक


फुलपरास। भूतही बलान से पीड़ित 56 गांव की विभिन्न समस्याओं को लेकर ‘मत बहिष्कार आंदोलन’ की आंच मुख्यमंत्री आवास तक पहुंच चुकी है। प्रसिद्ध रणनीतिकार व जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने इस आंदोलन को गंभीरता पूर्वक लेते हुए आंदोलनकारियों को फोन करके पटना मुख्यमंत्री आवास पर बुलाया, जिसमें मुख्य रूप से संतोष कुमार, संतोष राज, पप्पू कुमार, कन्हैया झा, शंभू नाथ झा, डॉ मिथिलेश कामत एवं निरंजन कुमार शामिल हैं। प्रशांत किशोर ने क्षेत्र की तमाम समस्याओं के बारे में प्रमुखता से जानकारी ली और समस्याओं के समाधान हेतु संबंधित मंत्री को निर्देश दिये। जिसमें भूतही बलान की पूर्वी तटबंध से संबंधित समस्याएं जल संसाधन मंत्री ललन सिंह और सड़क से संबंधित समस्याएं ग्रामीण कार्य विभाग मंत्री शैलेश कुमार से फोन पर बात करके जानकारी दिया, और इस ओर जरूरी कदम उठाने को कहा। साथ ही आश्वासन भी दिया कि अगर संबंधित मंत्री इस ओर सकारात्मक कदम नहीं उठाते हैं तो दोबारा कुछ दिनों के बाद आकर मिल सकते हैं। इसके साथ ही स्थानीय विधायक गुलजार देवी को फोन करके इस समस्या को सफाई देने हेतु अपने आवास पर बुलाया। अंत में प्रशांत किशोर ने आश्वासन दिया कि अगर इस समस्या का समाधान मंत्री नहीं करते हैं तो नीतीश जी खुद पहल करेंगे।ज्ञात हो कि भूतही बलान से पीड़ित 56 गांव की जनता ने 17 नवंबर को सुड़ियाही दुर्गा स्थान में एक आम सभा बुला कर 2019 आम सभा चुनाव का बहिष्कार करने का निर्णय लिया था।वरिष्ठ पत्रकार व समाजसेवी संतोष कुमार ने जानकारी देते हुए बताया की ‘इस घोषणा के तीन रोज के बाद ही प्रशांत किशोर के कार्यालय से युवा समाजसेवी पप्पू कुमार के मोबाइल पर फोन आया और समस्याएं एवं आंदोलन के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी लिया। इसके साथ ही उन्होंने 24 नवंबर को मुख्यमंत्री आवास आकर पूरी टीम के साथ मिलने को कहा।

Updated : 25 Nov 2018 3:17 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top