Top
Home > राज्यवार > बिहार > कृषि सुधार के नाम पर लाए गए काले क़ानूनों का उद्देश्य सिर्फ पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाना: शम्स

कृषि सुधार के नाम पर लाए गए काले क़ानूनों का उद्देश्य सिर्फ पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाना: शम्स

कृषि सुधार के नाम पर लाए गए काले क़ानूनों का उद्देश्य सिर्फ पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाना: शम्स
X

ब्यूरो रिपोर्ट

सीतामढ़ी: बिहार प्रदेश युवा कांग्रेस के निर्देशानुसारसंसद से पारित किसान विरोधी काले कानूनों के खिलाफ परिहार विधानसभा युवा कांग्रेसद्वारा स्थानीय रधाऊर मोड़ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला दहन किया गया।विरोध-प्रदर्शन का नेतृत्व जिला युवा कांग्रेस अध्यक्ष मो. शम्स शाहनवाज ने किया।कृषि उपज व्यापार, कृषक (सशक्तिकरणएवं संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा परकरार विधेयक, 2020 का विरोध कर रहेप्रदर्शनकारी ‘किसान विरोधी काला कानूनवापस लो’,‘नरेंद्र मोदी-नीतीश कुमार मुर्दाबाद’ का नारा लगा रहेथे।

इस मौके परसीतामढ़ी जिला युवा कांग्रेस अध्यक्ष मो. शम्स शाहनवाज ने कहा कि सूट-बूट वाली मोदीसरकार अब किसानों को बंधक बनाकर लूटने की कोशिश में जुट गई है। कृषि सुधार के नामपर लाए गए काले क़ानूनों का उद्देश्य सिर्फ पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाना है।कांग्रेस पार्टी इन कृषि और किसान विरोधी बिलों का पुरजोर विरोध करती है। शम्स नेराष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से आग्रह किया है कि वो राष्ट्रहित में किसान विरोधी इनबिलों पर हस्ताक्षर न करें।

मौके पर परिहारविधानसभा युवा कांग्रेस अध्यक्ष जितेंद्र कुमार यादव, विधानसभा सचिव मो. मेराज, अफ़रोज़ आलम, पप्पू कुमार यादव,मो. मोकर्रम, रंजीत कुमार, रणधीर कुमार झा, करूणेश कुमार,मो. गुलाब, मो. मोख्तार, संजय सिंह, सुधीर साह,सुरेश पासवान, वीरेंद्र मंडल, मुनीष मंडल आदि मुख्य रूप से मौजूद थे।

Updated : 23 Sep 2020 2:06 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top