Home > राष्ट्रीय > भारत की पहली निजी रेल सेवा पर छाए आर्थिक संकट के बादल

भारत की पहली निजी रेल सेवा पर छाए आर्थिक संकट के बादल

भारत की पहली निजी रेल सेवा पर छाए आर्थिक संकट के बादल
X

गुरुग्राम, ब्यूरो | गुरुग्राम में रैपिड मेट्रो रेल सेवा को दो चरणों में संचालित किया जाता है। पहले चरण में कंपनी ने 5.1 किलोमीटर का ट्रैक बनाया है, जो शंकर चौक से सिकंदरपुर डीएमआरसी स्टेशन तक राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 8 को जोड़ते हुए छह स्टेशनों को कवर करता है। रैपिड मेट्रो से सबसे अधिक यात्री गुरुग्राम कॉरपोरेट कंपनियों में काम करने वाले करते हैं। लेकिन कंपनी पर बहुत बड़ा आर्थिक संकट मंडराने के कारण कंपनी ने 9 सितम्बर से सेवा को स्थगित करने का फैसला ले लिया है, तथा इसका एडवांस नोटिस भी हरियाणा सरकार को सौंप दिया है।यह मेट्रो देश में निजी क्षेत्र की सबसे पहली मेट्रो सेवा है। यह 2013 में करीब 1450 करोड़ की लागत से बनाई गयी थी। लेकिन मेट्रो पर आये हुए आर्थिक संकट के कारण वह अपनी सेवा आगे जारी रखने में सक्षम नहीं हो पा रही है। आर्थिक संकट से जूझ रही इसे चलाने वाली कंपनी आइएल एंड एफएस इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी का कहना है कि रैपिड मेट्रो के अधिग्रहण के लिए हमने हरियाणा सरकार से आग्रह किया । है और सरकार के जवाब की प्रतिक्षा कर रहे हैं।

Updated : 6 Sep 2019 6:05 AM GMT
Next Story
Share it
Top