Home > राष्ट्रीय > रिसर्च एवं इनोवेशन से ही पैदा होंगे रोजगार - रविंद्र कुमार राय, सांसद

रिसर्च एवं इनोवेशन से ही पैदा होंगे रोजगार - रविंद्र कुमार राय, सांसद

रिसर्च एवं इनोवेशन से ही पैदा होंगे रोजगार - रविंद्र कुमार राय, सांसद
X

नई दिल्ली।सेंटर फॉर एजुकेशन ग्रोथ एंड रिसर्च सीईजीआर ने रिसर्च एंड इनोवेशन समिट का आयोजन 21 दिसंबर को इंडिया इंटरनेशनल सेंटर के मल्टीपरपस ह़ॉल में आयोजन किया गया। इस समिट में देश भर के दिग्गज शिक्षाविद् एकत्रित हुए और अपना वकतंव्य दिया। इस खास अवसर पर सांसद रविंद्र कुमार राय, सांसद रविंद्र कुमार कुशवाहा और दिल्ली भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष साजिया इल्मी ने भी सभा को संबोधित किया। कार्यक्रम में मानव संसाधन मंत्रालय के तहत साथ एआईसीटीई के मेम्बर सेकेट्ररी व प्रेसिडेंट एपी मित्तल रिसर्च एवं इनोवेसन पर एआईसीटीई के द्वारा की जा रहे इनेसिएटिव को साझा किए।एनडीए में सीटों के बंटवारे का ऐलानइस मौक पर एडिशन सेक्रेटरी यूजीसी डॉ पंकज मित्तल ने यूजीसी के तरफ से किए जा रहे रिस एवं इनोवेशन इनेसेटिव को लोगों के सामने विस्तार से प्रस्तुत की।समिट को संबोधित करते हुए सांसद रविंद्र कुमार राय ने कहा कि आज देश में इनोवेशन और रिसर्च की आवश्यकता है ताकि हमारे युवा को रोजगार प्राप्त हो सके। देश में रिसर्च पर कम खर्च किया जाता है, जिसे बढ़ाने की आवश्यकता है। केंद्र सरकार ने रिसर्च पर खर्च को बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि सीईजीआर जैसी संस्था रिसर्च पर लगातार कार्य कर रही है, निश्चिततौर पर सरकार अकेले इस कार्य को पूरा नहीं कर सकती है। सीईजीआर ने जो कदम उठाए हैं वह अभूतपूर्व है।इस मौके पर सांसद रविंद्र कुशवाहा ने कहा कि सीईजीआर ने जो रिसर्च और इनोवेशन पर बुक लांच किया है, इससे निश्चिततौर पर युवाओं ही नहीं फैकेल्टी को भी लाभ मिलेगा। इस तरह के कार्यक्रम से देश भर में जागरूकता भी आएगी। सीईजीआर के डायरेक्टर रविश रोशन लगातार वर्षों से रिसर्च इनोवेशन पर कार्य कर रहे हैं जिसे और बढ़ाने की आवश्यकता है। कुंभ से पहले लखनऊ में युवा कुंभसीईजीआर ने रिसर्च एंड इनोवेशन पर इनोवेसन टेक्नोलॉजी मैनेजमेंट पर बुक भी लांच किया। इस मौके पर एआईसीटीई के एडवाइजर प्रो. राजीव कुमार, एआईसीटीई के एडभाइजर प्रो.हरी हरन, , एआईसीटीई के डायरेक्टर ड़ॉ कैलाश बंसल, एआईसीटीई के डायरेक्टर डॉ रमेश उन्नीकृसन्न, एमईएससी व नेशनल स्कील डेवलपमेंट कॉरपोरेशन के सीओओ मोहित सोनी, शोभित यूनिवर्सिटी के चासंलर व सीनियर वाइस प्रेसिडेंट कुंवर शेखर विजेंद्र, अरुणाचल यूनिवर्सिटी ऑफ स्टीडज के चेयरमैन व सीनियर वाइस प्रेसिडेंट सीईजीआर अश्विनी लोचन,एएएफटी व मारवाह यूनिवर्सिटी के चासंलर संदीप मारवाह, पीआईएमआर इंदौर के चेयरमैन डॉ दवीश जैन, डीवाई पाटिल इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी के वाइस चासंलर प्रो.प्रभात रंजन, हिमालयन ग्रेवाल यूनिवर्सिटी केवाइस चासंलर प्रो. एनके सिन्हा, और स्पिंगर नेचर एमडी व सीनियर वाइस प्रेसिडेंट सीईजीआर संजीव गोस्वामी ने सभा को संबोधित किया। गौरतलब है कि सीईजीआर देश का अग्रणी एजुकेशन थिंक टैंक है। जो समय समय पर ऐसे आयोजन करता रहता है। सीईजीआर से करीब 5000 एकेडमिशियन जुड़े हैं। जिसमें चासंलर, वाइस चासंलर, डायरेक्टर, चेयरमैन सहित विश्वविद्यालय व कॉलेज के प्रोफेसर जुड़े हैं।

Updated : 23 Dec 2018 9:30 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top