Home > राज्यवार > दिल्ली > दीपांजन सेवा ट्रस्ट का क्रांतिकारी प्रयास : स्वस्थ महिला, सशक्त राष्ट्र

दीपांजन सेवा ट्रस्ट का क्रांतिकारी प्रयास : स्वस्थ महिला, सशक्त राष्ट्र

दीपांजन सेवा ट्रस्ट का क्रांतिकारी प्रयास : स्वस्थ महिला, सशक्त राष्ट्र
X

रिपोर्ट ¦ जावेद छोलस

नई दिल्ली। वर्तमान समय में देश में महिलाओं के स्वास्थ्य और सुरक्षा का प्रश्न एक अहम् मुद्दा बनकर उभरा है। यह एक ऐसा प्रश्न है जहाँ महिला तो महिला पुरुष भी महिला माहवारी में उपयोग होने वाले सेनेटरी पैड्स के सन्दर्भ में बात करने में हिचकते है और आलम यह है कि देश की आधी आबादी को प्रत्येक माह शर्मशार होना पड़ता है। बदलते सन्दर्भ में सरकारी प्रयास और कई सस्थाओं के अथक प्रयास से इस दिशा में कारगर सफलता मिल रही है। इसी कड़ी में दीपांजन सेवा ट्रस्ट के द्वारा एक सार्थक और फलीभूत सफलता मिल रही है। यह ट्रस्ट बहुत ही किफायती लागत पर आक्सी बायो डीग्रेडेबल सेनेटरी पैड्स की दिशा में आगे बढ़ा है और समाज के उत्थान में कार्यरत है। यह ट्रस्ट पिछले छः सालों से चुपचाप तरीके से महिलाओं की माहवारी समस्याओं के सन्दर्भ में उपयोग होने वाले पैड्स एवं अन्य दिक्कतों को लेकर बड़ी सजगता से काम कर रहा है।

दरअसल, यह संस्था दिनांक 27 फरवरी को दिल्ली के इंडिया हैबीटेट सेंटर के तमारिन्द हाल में ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के सन्दर्भ में अपने किये प्रयासों से आये बदलाओं एवं इससे हुए उत्पन्न माहौल पर एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया। इस वाद-विवाद सेमीनार के बाद ट्रस्ट के द्वारा प्रदत्त वार्षिक राष्ट्रीय पुरस्कार ‘दीपांजन पुरस्कार’ की घोषणा की गई। जिसमें ऐसे लोगों को सम्मानित किया गया जिसने इस दिशा में सार्थक काम किया है। इस समारोह की शुरुआत सबसे पहले पुलवामा में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देने से हुई। जिसमें ट्रस्ट के ट्रस्टी, ट्रस्ट के कुछ लाभान्वित सदस्य जो बीपीएल कटेगरी से आते है, तथा कुछ गणमान्य व्यक्तियों द्वारा किया गया। सम्मानित लोगों में दक्षिण अफ्रीका की सन्जना जॉन, डाक्टर आमना मिर्जा, रोज़ी अहलूवालिया, राशि आनन्द जो एनजीओ लक्ष्ययम के संस्थापक है, श्रुति पद्मनाभंन, कलाकार निशी सिंह, सीओडब्लूई के संस्थापक मिस तृप्ति सोमनी, लेहर सेत्ठी, डाक्टर अर्चना धवन बजाज, रितू झा, उर्वशी मित्तल, उद्दमी मिस पालक ग्रोवर की उपस्थिति रही।

इस कार्यक्रम में श्री करण सिंह (आईपीएस, पुर्व डायरेक्टर ईडी) तथा ट्रस्टी डाक्टर अंजन प्रकाश कौर ने वर्तमान में देश की दशा और दिशा पर विधिवत प्रकाश डाला। यहाँ उपस्थित महत्वपूर्ण व्यक्तियों में एमओएस श्री सत्यपाल सिंह जी, एनडीएमसी की सचिव रश्मि सिंह जी भी शामिल थी। वही ट्रस्ट की संस्थापक सदस्या एवं देश की जानीमानी चर्मरोग विशेषज्ञ दीपाली भारद्वाज ने बहस को सकारत्मक मोड़ देते हुए उपस्थित लोगों को रोज की जिंदगी में कैसे सुधार किया जाय तथा कैसे जलवायु परिवर्तन तथा इससे उत्पन्न समस्याओं के साथ सातत्य बनाये रखा जा सके, पर प्रकाश डाला। अन्य वक्ताओं में मिस भयना योगिता (समाजिक कार्यकर्ता), मिस पूनम वर्मा (प्रिंसीपल, शहीद सुखदेव कालेज), आईएएस इरा सिंघल, और ट्रस्टी विनोद शर्मा जैसों ने स्वच्छ भारत और इसके जलवायु और स्वास्थ्य पर हुये प्रभावों पर प्रकाश डाला। मंच संचालन और वाद विवाद को सही तरीके से कार्यान्वित करने का काम मिस मार्या शकील ने किया।

इस अवसर पर बोलते हुए भारद्वाज कहती हैं, "यह पूरी तरह सच है की आज पुरा देश एक छोटी सी लघु फिल्म को लेकर खुशी मना रहा है जिसमें देश में महिलाओं को सेनेटरी पैडस के लिये किये जा रहे संघर्ष की कहानी है और उसे दुनिया का सबसे प्रतिष्ठित अवार्ड आस्कर मिला है, लेकिन यहाँ यह भी सच है कि आज भी देश में अधिसंख्य आबादी (महिलाये) एक स्वच्छ सेनेटरी पैडस के लिये तरस रही है। दीपांजन इस दिशा में बहुत ही बेहतरीन काम कर रहा है। इसके उत्पाद ईको फ्रेंडली और बहुत ही सस्ते हैं। लेकिन ऐसा मेरा मानना है की आज भी इस दिशा में बहुत कुछ किये जाने की आवश्कता है। इसके लिये एक बेहतर जागरुकता की जरुरत है।” आज आवश्यकता है कि दीपांजन जैसे अन्य सस्थाओं को भी एक पहचान मिले ताकि आगे भी महिलाओं के स्वास्थ्य के मद्देनजर अति सुरक्षित तथा आक्सी बायोडीग्रेडेबल पैडस आसानी से बनाया जा सके तथा राष्ट्र की सुरक्षा एवं महिला स्वास्थ्य को सुरक्षित रखा जा सके।

Updated : 28 Feb 2019 7:03 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top