Top
Home > खेल > शांता रंगास्वामी ने दिया CAC से इस्तीफ़ा, बढ़ने को हैं रवि शास्त्री की मुश्किलें

शांता रंगास्वामी ने दिया CAC से इस्तीफ़ा, बढ़ने को हैं रवि शास्त्री की मुश्किलें

शांता रंगास्वामी ने दिया CAC से इस्तीफ़ा, बढ़ने को हैं रवि शास्त्री की मुश्किलें
X

BCCI, एजेंसी | भारतीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान शांता रंगास्वामी ने क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी के सदस्य पद और इंडियन क्रिकेटर्स एसोसिएशन के डायरेक्टर पद से इस्तीफा दे दिया है। इस इस्तीफे ने टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री की मुश्किलों को बढ़ा दिया है। यहां तक कि उनको मुख्य कोच की कुर्सी भी गंवानी पड़ सकती है। दरअसल, बीसीसीआइ के एथिक्स ऑफिसर डीके जैन ने शांता रंगास्वामी को हितों के टकराव का नोटिस भेजा है। इसी के कारण उनको सीएसी और आईसीए से इस्तीफा देना पड़ा है। इस बारे में शांता रंगास्वामी ने कहा है, "मेरे पास और भी योजनाएं हैं। इसलिए मैंने इस्तीफा दिया है। सीएसी की साल या दो साल में एक बार मीटिंग होती है इसलिए इसमें हितों के टकराव की कोई बात नहीं है।"

शांता रंगास्वामी ने आगे कहा कि सीएसी कमेटी में शामिल होना मेरे लिए सम्मान की बात थी। मौजूदा बातों को देखते हुए इस भूमिका के लिए किसी भी पूर्व क्रिकेटर का शामिल होना बहुत मुश्किल होगा। बीसीसीआइ के चुनाव से पहले आइसीए से इस्तीफा देना कोई बड़ी बात नहीं है। इसलिए बस ये सिर्फ समय का मामला है। पूर्व भारतीय महिला क्रिकेटर शांता रंगास्वामी, कपिल देव की अगुआई वाली क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी की एक सदस्य थी, जिसमें अंशुमन गायकवाड़ भी शामिल थे। फिलहाल शांता रंगास्वामी ने रविवार को अपना त्याग पत्र ईमेल के जरिए कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स और बीसीसीआइ के सीईओ राहुल जौहरी को भेज दिया है। इससे हेड कोच रवि शास्त्री की भी मुश्किल बढ़ गई है। दरअसल, बीसीसीआइ के एथिक्स ऑफिसर डीके जैन ने शनिवार को सीएसी के तीनों सदस्यों को एक मेल भेजा था जिन्होंने टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री को चुना था। कपिल देव, शांता रंगास्वामी और अंशुमन गायकवाड़ से डीके जैन ने 10 अक्टूबर तक हितों के टकराव के आरोपों पर उनका पक्ष मांगा था, लेकिन शांता रंगास्वामी ने इस पद से इस्तीफा दे दिया।

Updated : 29 Sep 2019 8:16 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top