Top
Home > खेल > रोहित शर्मा ने विशेषज्ञों को दी सलाह- खिलाड़ियों और प्रदर्शन पर बहस करें, पिचों पर नहीं

रोहित शर्मा ने विशेषज्ञों को दी सलाह- खिलाड़ियों और प्रदर्शन पर बहस करें, पिचों पर नहीं

रोहित ने वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, मैं कभी इस बात को समझ नहीं पाया कि इस बात पर इतनी बहस क्यों की जाती है।

रोहित शर्मा ने विशेषज्ञों को दी सलाह- खिलाड़ियों और प्रदर्शन पर बहस करें, पिचों पर नहीं
X

उदय सर्वोदय

अहमदाबाद: टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा की विशेषज्ञों और प्रशंसकों को सलाह है कि वे खिलाड़ियों और उनके प्रदर्शन को लेकर बहस करें, पिचों को लेकर नहीं।

रोहित ने इंग्लैंड के खिलाफ 24 फरवरी से यहां होने वाले दिन रात्रि टेस्ट से पहले वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "मुझे मालूम था कि होम एडवांटेज और पिच को लेकर जरूर सवाल पूछा जाएगा। मैं कभी इस बात को समझ नहीं पाया कि इस बात पर इतनी बहस क्यों की जाती है। लोग लगातार इस पर बात करते रहते हैं लेकिन तथ्य यह है कि भारत में लम्बे समय से ऐसी ही पिचें बनती रही हैं। हर कोई होम एडवांटेज का फायदा लेना चाहता है। जब हम बाहर जाते हैं कोई इस बारे में सोचता नहीं है तो फिर हम दूसरों के बारे में क्यों सोचते हैं।"

भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही चार टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा टेस्ट 24 फरवरी से अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में खेला जाएगा। यह पहला मौका है जब भारत और इंग्लैंड की टीमें एक दूसरे के खिलाफ पिंक बॉल से डे-नाइट टेस्ट खेलने मैदान पर उतरेंगी। दूसरे टेस्ट मैच में टीम इंडिया ने जबर्दस्त प्रदर्शन करते हुए इंग्लैंड को 317 रनों से हराया था। चेन्नई के मैदान पर मिली जीत के साथ ही भारतीय टीम ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को भी जिंदा रखा है। इसी बीच, सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने बताया है कि डब्ल्यूटीसी के फाइनल में पहुंचने के लिए टीम को क्या करने की जरूरत है।

रोहित ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बात करते हुए कहा, 'हां, बेशक हम क्वालीफाई करना चाहते हैं, हम डब्ल्यूटीसी फाइनल में जगह बनाना चाहते हैं लेकिन ऐसा करने के लिए हमें काफी चीजें सही करने की जरूरत है। जब हम खेल रहे हों तो हमारा ध्यान सिर्फ इस पर होना चाहिए कि हमें जीतने के लिए क्या करना है। फाइनल में पहुंचने से पहले हमें कुछ छोटे कदम उठाने की जरूरत है। अब भी इसके लिए काफी कुछ करने की जरूरत है। यह महत्वपूर्ण है कि हम वर्तमान पर रहें और अपने काम पर ध्यान दें।'

भारत की लिमिटेड ओवरों की टीम के उप कप्तान ने बातचीत के महत्व पर जोर दिया जो उनके अनुसार टीम की सफलता के लिए जरूरी है।

Updated : 21 Feb 2021 5:00 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top